Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NRI के मकान पर कब्जा, CM को ट्वीट कर मांगी मदद, आपके मंत्री का नाम लेकर देता है धौंस, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

इंदौर के एक एनआरआई के मकान पर ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह की धौंस देकर एक व्यक्ति ने कब्जा कर लिया है, एनआरआई ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से गुहार लगाकर उनका मकान वापस दिलाने की मांग की है।

NRI के मकान पर कब्जा, CM को ट्वीट कर मांगी मदद, आपके मंत्री का नाम लेकर देता है धौंस, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

भोपाल। इंदौर के एक एनआरआई के मकान पर ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह की धौंस देकर एक व्यक्ति ने कब्जा कर लिया है, एनआरआई ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से गुहार लगाकर उनका मकान वापस दिलाने की मांग की है। एनआरआई द्वारा ट्वीट के जरिये अपनी पीड़ा बताए जाने पर मुख्यमंत्री द्वारा इंदौर के आईजी को निर्देशित करके जांच के आदेश दिए हैं। इंदौर के एक एनआरआई मनोज वर्घीस ने तीन ट्वीट के जरिये मुख्यमंत्री को अपनी पीड़ा का उल्लेख किया है ।

पहले ट्वीट में उन्होंने कमलनाथ को लिखा कि- मैं एक एनआरआई हूं। मेरा मकान इंदौर के साकेत नगर में है। उन्होंने लिखा में जब विदेश में था, उसी दौरान शिवराज सिंह लिमडी नाम के किसी व्यक्ति ने मेरे मकान पर अवैध कब्जा कर लिया है। उन्होंने मंत्री प्रियव्रत सिंह का नाम लेकर धौंस दी है। मुझे पुलिस द्वारा दबाव भी डालकर परेशान किया जा रहा है। कृपया मदद करें। वर्घीस ने ट्वीट में अपने और मकान पर कब्जा करने वाले व्यक्ति के मोबाइल नंबर भी दिए हैं। दूसरे ट्वीट में मप्र के सीएम को उल्लेखित करते हुए मनोज ने उक्त समस्या के अलावा बताया कि वह 1994 से एनआरआई हैं। इस मामले में पुलिस के दबाव के चलते डिप्रेशन में हैं।


वर्घीस के ट्वीट सोशल मीडिया में जारी होने के बाद मप्र कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक एवं प्रदेश प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी कि - मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर आईजी वरुण कपूर को इस पूरे मामले में जांच कर, पीड़ित व्यक्ति की संपूर्ण मदद हो, इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। सीएम के आदेश मिलते ही इंदौर के आईजी ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

उसके बाद मनोज वर्गीज ने ट्वीट कर सीएम कमलनाथ को धन्यवाद देते हुए कहा, तुरंत रिप्लाई के लिए मैं मध्यप्रदेश के डीजीपी वीके सिंह, एडीजी इंदौर वरुण कपूर, एसएसपी इंदौर और एसपी ईस्ट इंदौर समेत पूरी पुलिस टीम को इस मामले की इतनी जल्दी निवारण के लिए।

Next Story
Share it
Top