Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा- कांग्रेस के राज में अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा हाल

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हम ने तो न्याय मांगने के लिए विरोध प्रदर्शन किया, लेकिन उलटे हमें ही अपराधी बना दिया। उन्होंने कहा मप्र में अब अंधेर नगरी चौपट राजा जैसे हालात हैं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा- कांग्रेस के राज में अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा हाल
X

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हम ने तो न्याय मांगने के लिए विरोध प्रदर्शन किया, लेकिन उलटे हमें ही अपराधी बना दिया। उन्होंने कहा मप्र में अब अंधेर नगरी चौपट राजा जैसे हालात हैं। यह बयान शर्मा ने स्वयं के सहित भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने पर दिया है। उन्होंने कहा हमें इस सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं है।

शर्मा ने कहा कि लोकतंत्र में धरना प्रदर्शन करना विपक्ष का अधिकार होता है, लेकिन जिस तरह से कांग्रेस सरकार ने हमारे ऊपर केस दर्ज किया उससे लगता है कि सरकार लोकतंत्र का गला घोंट रही है। पुतला दहन के दौरान ऐसी कोई वजह नहीं थी कि केस दर्ज किया जाए। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है और विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। लेकिन हम चुप नहीं बैठेंगे। पुलिस के दम पर हमें दबाया नहीं जा सकता। हम इस गैर जिम्मेदार सरकार का विराेध करते रहेंगे।
उल्लेखनीय है कि मप्र में बिगड़ती कानून व्यवस्था और हाल ही में लगातार सामने आए भाजपा नेताओं की हत्याओं के मामलों के विरोध में भाजपा ने बीते साेमवार को प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन कर प्रदेश सरकार का पुतला दहन किया था। इस दाैरान राजधानी के बोर्ड आफिस चौराहे पर भी पुतला दहन का आयोजन भाजपा ने किया।
इस विरोध प्रदर्शन में भी विधायक रामेश्वर शर्मा और भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र नाथ सिंह के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया था। पुतला दहन के दौरान जहां पुलिस अधिकारियों के साथ भाजपा नेताओं की झूमा झपटी भी हुई थी। वहीं पुतला दहन के बाद थाना एमपी नगर पुलिस ने विधायक रामेश्वर शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र नाथ सिंह, जिला प्रवक्ता राजेन्द्र गुप्ता, इरशाद, भूरा शर्मा, पप्पू विलास, शरण खटीक, सुधीर, प्रकाश आदि के खिलाफ आईपीसी की धारा 341, 147 एवं 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।
पुलिस ने आरापे लगाया है कि प्रदर्शन के दौरान व्यस्त चौराहे बोर्ड ऑफिस पर रास्ता रोक दिया गया। जबकि यहां कलेक्टर डॉ सुदाम पी खाड़े ने 5 जनवरी को आदेश जारी कर आगामी दो माह के लिए धारा 144 लागू कर दी थी। जिससे इस क्षेत्र में प्रदर्शन नहीं किया जा सकता था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story