Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

व्यापम को बताए बगैर बैंकों ने बदल दिया यूआरएल, हजारों कैंडिडेट्स परेशान, बढ़ी आवेदन तिथि

बिना व्यापम को सूचना दिए दो बड़े बैंकों ने अपना यूआरएल बदल दिया। बिना सूचना दिए यूआरएल बदले जाने के कारण व्यापम की विविध परीक्षाओं के लिए आवेदन करने वाले कैंडिडेट्स आवेदन करने के बाद भी फीस नहीं भर सके।

व्यापम को बताए बगैर बैंकों ने बदल दिया यूआरएल, हजारों कैंडिडेट्स परेशान, बढ़ी आवेदन तिथि
X

बिना व्यापम को सूचना दिए दो बड़े बैंकों ने अपना यूआरएल बदल दिया। बिना सूचना दिए यूआरएल बदले जाने के कारण व्यापम की विविध परीक्षाओं के लिए आवेदन करने वाले कैंडिडेट्स आवेदन करने के बाद भी फीस नहीं भर सके। त्रस्त छात्र जब व्यापम के पास पहुंचे, तो बैंकों द्वारा यूआरएल कोड बदले जाने की बात सामने आई।

व्यापम के अनुसार, बैंकों द्वारा साइट में तकनीकी खराबी आने के कारण यूआरएल कोड बदला गया था। व्यापम को बिना सूचित लिंक बदलने के कारण व्यापम की साइट अपडेट नहीं की जा सकी।

गौरतलब है कि व्यापम ने राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अंतर्गत 14 जिलों में पटवारी के 250 पदों के लिए आवेदन मंगाए गए थे। इसके लिए आवेदन करनी की अंतिम तिथि 31 जनवरी थी। अब इसे बढ़ाकर 3 फरवरी कर दिया गया है।
वहीं राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद द्वारा राज्य शैक्षिक पात्रता परीक्षा के लिए 3 फरवरी तक आवेदन मंगाए गए थे। इसके लिए कैंडिडेट्स 5 फरवरी तक आवेदन कर सकेंगे।
छात्रों की शिकायत पर फैसला
व्यापम को बैंक के यूआरएल कोड बदले जाने की जानकारी नहीं थी। फीस भर पाने में असमर्थ रहने के बाद कैंडिडेट्स ने इसकी शिकायत व्यापम से की। कोड बदले जाने के संदर्भ में चिप्स को भी सूचित नहीं किया गया था। चिप्स द्वारा इसकी पुष्टि किए जाने के पश्चात व्यापम ने तारीख बढ़ाई है। जिन कैंडिडेट्स ने फीस नहीं भरी है, वे फीस भर सकेंगे। साथ ही नए कैंडिडेट्स भी बढ़ी हुई तिथि में आवेदन कर सकेंगे। व्यापम ने संशोधित तारीखें और विस्तृत जानकारी अपने वेबसाइट में अपलोड कर दी हैं।
सूचना नहीं दी बैंकों ने
बैंकों द्वारा बिना किसी पूर्व सूचना के यूआरएल परिवर्तित होने से यह दिक्कत आई। आवेदन तिथि बढ़ा दी गई है।
- प्रदीप चौबे, परीक्षा नियंत्रक, व्यापम

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story