Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कैलाश विजयवर्गीय का एक और बयान - महाकाल के रास्ते से अवरोध नहीं हटा, तो 101 स्थानों पर चक्काजाम

कमलनाथ सरकार पर दमनकारी नीतियों, तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए उज्जैन में भाजपा का विरोध प्रदर्शन, पढ़िए पूरी खबर-

कैलाश विजयवर्गीय का एक और बयान - महाकाल के रास्ते से अवरोध नहीं हटा, तो 101 स्थानों पर चक्काजाम

उज्जैन। तुष्टिकरण और वोट की राजनीति के चलते कांग्रेस ने विभाजन से लगाकर आज तक इस देश में समाज को बांटने की कोशिश की है और अभी भी यही कर रही है। प्रदेश सरकार के इशारे पर काम करने वाले प्रशासन ने अगर जल्द ही भगवान महाकाल के मंदिर तक जाने वाले रास्ते को शुरू कराने के लिए कदम नहीं उठाए, तो भारतीय जनता पार्टी शहर में एक साथ 101 स्थानों पर चक्काजाम करेगी, जिसकी सारी जवाबदारी प्रशासन की होगी। भाजपा सर्वधर्म समभाव में विश्वास रखती है और शांति व अमन चाहती है, परन्तु प्रशासन हमारी सहनशीलता की परीक्षा न ले। ये बातें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने उज्जैन में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।

कमलनाथ सरकार पर दमनकारी नीतियों, तुष्टिकरण तथा विरोध प्रदर्शन के नाम पर महाकाल मंदिर के रास्ते पर बेगमबाग में अवरोध पैदा करने का आरोप लगाते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं ने सोमवार को प्रदर्शन किया। नयी सड़क पर आयोजित इस प्रदर्शन में हजारों भाजपा कार्यकर्त्ता शामिल हुए।

पैदल मार्च के रूप में गोपाल मंदिर पहुंचकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की अगुवाई तथा जिलाध्यक्ष विवेक जोशी एवं बहादुर सिंह बोरमुंडला की उपस्थिति में प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया। प्रदर्शन में संभागीय संगठन मंत्री जीतेन्द्र लिटोरिया, जगदीश अग्रवाल, महापौर मीना जोनवाल, राजपाल सिंह सिसोदिया, सुरेन्द्र सांखला, मंडल अध्यक्ष अजय तिवारी, परेश कुलकर्णी, राजकुमार बन्सीवाल, दिग्विजयसिंह चौहान, जीतेन्द्र भाटी आदि शामिल हुए।

हम विरोध प्रदर्शन के खिलाफ नहीं, पर मंदिर का रास्ता न रोकें

उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उज्जैन की पहचान बाबा महाकाल एवं क्षिप्रा मैया से है और शिवरात्रि बाबा का सबसे बड़ा उत्सव है। अगर इस पर्व पर भी बाबा के मंदिर का रास्ता बंद रहता है तो इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण और कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि हम किसी के विरोध प्रदर्शन के खिलाफ नहीं हैं। लोकतंत्र में सबको ये अधिकार है। परन्तु बाबा महाकाल के मार्ग में अवरोध पैदा करना भक्त और भगवान के बीच रुकावट डालने जैसा है।

किसके इशारे पर आदिवासियों को बांट रहे मुख्यमंत्री कमलनाथ

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा जनगणना के दौरान आदिवासियों द्वारा हिन्दू लिखवाने के संबंध में दिये गए बयान की आलोचना करते हुए कहा कि कमलनाथ जी शायद आप भूल गए कि ये प्रभु श्रीराम का देश है। इस देश का आदिवासी कालांतर से श्रीराम से जुड़ा रहा है और आप उसे हिन्दू लिखने पर कार्यवाही की धमकी दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और मुख्यमंत्री कमलनाथ आखिर किस के इशारे पर आदिवासियों को बांटने और हिंदू समाज को तोड़ने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश का किसान क़र्ज़ में दबा है, खाद-बीज के लिये जूझ रहा है, युवा रोजगार के लिए भटक रहा है और प्रदेश सरकार फिल्म स्टार्स के साथ आइफा अवार्ड में व्यस्त है। कमलनाथ जी इस प्रदेश को आइफा से ज्यादा प्रदेश में फैली अराजकता से छुटकारे की जरूरत है।

धृतराष्ट्र बना प्रशासनः फिरोजिया

सांसद अनिल फिरोज़िया ने संबोधित करते हुए कहा कि सीएए के विरोध के नाम पर पिछले कई दिनों से एक वर्ग द्वारा महाकाल मंदिर का रास्ता रोक दिया गया है, पर स्थानीय प्रशासन धृतराष्ट्र की तरह आँखें बंद करके बैठा है। मंदिर जाने वाले हजारों श्रद्धालुओं को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, परन्तु प्रशासन कांग्रेस सरकार के दबाव में कार्यवाही से बच रहा है। जब भाजपा के एक दलित नेता ने प्रशासन की इस तानाशाही के विरुद्ध आवाज़ उठाई, तो उसे रासुका लगाकर जेल भेज दिया गया।

सांसद फिरोज़िया ने कहा कि बाबा महाकाल और उनके भक्तों के बीच अवरोध पैदा करने वाले अच्छी तरह समझ लें कि पूरे उज्जैन की रोजी-रोटी बाबा महाकाल के नाम से चल रही है। उन्होंने प्रशासन को चेतावनी दी कि अगर 13 तारीख तक महाकाल मार्ग नहीं खुलवाया गया, तो भाजपा उग्र आन्दोलन करेगी।

किसी शर्त का पालन नहीं कर रहे प्रदर्शनकारी छ डॉ. यादव

उज्जैन दक्षिण से विधायक डॉ. मोहन यादव ने कहा कि प्रशासन प्रदेश सरकार के हाथों की कठपुतली बनकर रह गया है। जिस प्रदर्शन की अनुमति 1 दिन के लिए दी गयी थी, 20 दिन बीतने के बाद भी विरोध प्रदर्शन जारी है। उन्होंने कहा कि इस विरोध प्रदर्शन की अनुमति कई शर्तों के आधार पर दी गई थी, लेकिन प्रदर्शनकारी एक भी शर्त का पालन नहीं कर रहे हैं। डॉ. यादव ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने पत्रकार वार्ता के माध्यम कहा था कि महाकाल मार्ग अवरुद्ध नहीं है, परन्तु कल ही शहर क़ाज़ी द्वारा 70 फीट मार्ग छोड़ने की बात कही गयी है, जिससे कांग्रेस का झूठ सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि आखिर कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीती में और कितने नीचे गिरेगी?

उपस्थित कार्यकर्ताओं को जिलाध्यक्ष बहादुर सिंह बोरामुंडला, विधायक बहादुर सिंह चौहान, अनिल जैन कलुहेडा, इकबाल सिंह गाँधी, किशन सिंह भटोल, सोनू गहलोत सहित कई भाजपा नेताओं ने भी संबोधित किया।

Next Story
Top