Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''भारत छोड़ो'' आंदोलन की तर्ज पर 8 अगस्त से शुरू होगा ''अन्नदाता बचाओ'' आंदोलन

8 जून को मंदसौर के मृत किसानों के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया है। इसमें कक्काजी के साथ यशवंत सिन्हा, प्रवीण तोगड़िया औ शत्रुघ्न सिन्हा शामिल होंगे।

भारत छोड़ो आंदोलन की तर्ज पर 8 अगस्त से शुरू होगा अन्नदाता बचाओ आंदोलन
X

किसान आंदोलन को एक सप्ताह बीत गए हैं। इस आंदोलन में किसानों ने गांव बंद की घोषणा की थी। इसके तहत पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा और प्रवीण तोगड़िया शामिल होने जा रहे हैं।

इस बात की घोषणा राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार शर्मा कक्काजी ने इंदौर में की हैं। उन्होंने ऐलान किया है कि इसके बाद भारत छोड़ो आंदोलन की तारीख यानि 8 अगस्त से किसान अन्नदाता बचाओ आंदोलन की शुरूआत होगी।

जानकारी के अनुसार 8 जून को मंदसौर के दलोदा क्षेत्र में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया है। इसमें कक्काजी के साथ यशवंत सिन्हा, प्रवीण तोगड़िया औ शत्रुघ्न सिन्हा शामिल होंगे।

इसके अलावा जम्मू कश्मीर के राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष हमीद मलिक, संदीप गिरडे, प्रकाश पांडे, विकास बांगे, सुरेश विष्ठ, वीरसिंह, अभिमन्यु गुहार दालौदा में मृत किसानों को श्रद्धांजलि देंगे।

कक्का ने कहा कि किसानों की खामोशी पर सरकार अपनी पीठ न थपथपाए। किसान आंदोलन से शक्ति का संदेश देना था। यह हमारे संगठन का अनुशासन था कि किसान को सड़क पर नहीं आने दिया। किसानों का सम्मान किसी भी कीमत पर गिरने नहीं दिया जाएगा।

मंदसौर से होगा शंखनाद

कक्का जी ने ऐलान किया है कि किसान हमने हक के लिए फिर से सड़क पर उतरेगा। वह 8 अगस्त से अन्नदाता बचाओ आंदोलन का शंखनाद करेगा।

इसी दिन भारत छोड़ो आंदोलन की ऐतिहासिक तारीख है। लेकिन, इस तारीख का इतिहास मंदसौर जिला ही होगा। दरअसल, यहां पुलिस की गोलियां से छह किसान और उसके परिजन मारे गए थे।

सर्वे टीम नहीं आई तो चक्काजाम

गुरुवार को दर्जनों किसानों ने बुरहानपुर में चक्काजाम कर दिया। किसान प्रशासन की लापरवाही के खिलाफ नाराजगी जता रहे थे। दरअसल, बुधवार शाम भीषण आंधी आई थी।

इसमें जिले के केला किसानों की फसल चौपट हो गई। किसान इस बात से नाराज थे कि अगले दिन प्रशासन का कोई भी व्यक्ति नुकसान का सर्वे करने नहीं पहुंचा।

किसान कर्ज वसूली में मोहलत भी मांग रहे थे। झाबुआ में दर्जनाें किसानों ने जल सत्याग्रह किया। किसान विरोध स्वरूप दो घंटे तक गोठानिया खुर्द तालाब में खड़े रहे।

किसानाें ने मुफ्त में बांटी सब्जियां

इधर, राजधानी के बिट्टन मार्केट के साप्ताहिक हाट बाजार में भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने मुफ्त में प्याज और लहसुन बांटे।

यूनियन के महामंत्री अनिल यादव ने बताया कि हाट में लगभग 15 क्विंटल लहसुन और प्याज बांटा गया। इस प्रदर्शन से किसान सरकार के अलावा किसानों की नीतियां बनाने वाले अफसरों के समक्ष अपना विरोध पहुंचाना चाहते थे।

दरअसल, इस हाट में चार इमली के बंगलों से भी कई अफसर खरीददारी करने पहुंचते हैं। यादव ने बताया कि अगले चरण में यूनियन की तरफ से जल सत्याग्रह की तैयारी है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story