Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मारपीट से गुस्साए एम्स डॉक्टर और नर्स गए हड़ताल पर, चौकी प्रभारी SI ने कहा- शांत रहो वरना 200 लोग आ जाएंगे हंगामा करने

राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शुक्रवार को इमरजेंसी वार्ड में मरीज के साथ आए परिजनों ने डॉक्टर और नर्स के साथ मारपीट कर अस्पताल में तोड़फोड़ कर दी।

मारपीट से गुस्साए एम्स डॉक्टर और नर्स गए हड़ताल पर, चौकी प्रभारी SI ने कहा- शांत रहो वरना 200 लोग आ जाएंगे हंगामा करने
X

भोपाल। राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शुक्रवार को इमरजेंसी वार्ड में मरीज के साथ आए परिजनों ने डॉक्टर और नर्स के साथ मारपीट कर अस्पताल में तोड़फोड़ कर दी। डॉक्टर और नर्स के साथ मारपीट करने वाले कोई और नहीं एम्स के चौकी प्रभारी बागसेवनिया थाने के एसआई वीके सिंह के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। मारपीट की घटना से नाराज डॉक्टर और नर्स इमरजेंसी में काम बंद कर हड़ताल पर चले गए हैं। डॉक्टरों का कहना है कि जब तक चौकी प्रभारी वीके सिंह को यहां से हटा नहीं दिया जाता, तब तक वह काम पर नहीं लौटेंगे।

जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह साढ़े 11 बजे पिपलिया पंदेखां में रहने वाला एक युवक अपनी मां को लेकर एम्स के इमरजेंसी में इलाज के लिए लेकर पहुंचा था। डॉक्टरों ने मरीज का चेकअप कर जांच कराने के लिए कहा तो मरीज के साथ आए परिजन भड़क गए। उन्होंने डॉक्टरों से कहा कि पहले आप इन्हें भर्ती कर लो फिर जांच कराएंगे।

डॉक्टरों ने परिजनों को समझाया की पहले आप जांच करा लो फिर मरीज को भर्ती करेंगे। इस पर मरीज परिजन भड़क गए और उन्होंने हंगामा कर ड्यूटी डॉक्टर और नर्स के साथ मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं जब डॉक्टरों ने चौकी प्रभारी वीके सिंह को घटना की जानकारी दी तो उन्होंने डॉक्टरों को बचाने की बजाए मारपीट करने वालों का साथ देने लगे।

शांत रहो वरना 200 लोग आ जाएंगे हंगामा करने

एम्स में सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी निभाने वाले एसआई वीके सिंह मारपीट करने वालों को कार्रवाई करने की बजाए डॉक्टर और नर्स को हो शांत रहने की हिदायत देते रहे। एसआई ने डॉक्टर और नर्स से कहा कि आप शिकायत मत करो वरना अभी यहां दो सौ लोग आए जाएंगे और हंगामा करेंगे। इसलिए जो हुआ वह सब भूल जाओ और मरीजों को इलाज करो। बताया जा रहा है कि डॉक्टर और नर्स के साथ जिन लोगों ने मारपीट की वह एसआई के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। एसआई के इस रवैए से नाराज डॉक्टर और नर्स हड़ताल पर चले गए है। नाराज डॉक्टर और नर्स का कहना है कि जब तक एसआई को यहां से हटाने के साथ मारपीट करने वाले लोगों पर मामला दर्ज नहीं हो जाता, तब तक हड़ताल जारी रहेगी।

एसआई की करेंगे शिकायत

डॉक्टर और नर्स के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ बागसेवनिया थाने में शिकायत करेंगे। इसके साथ ही एसआई पर कार्रवाई करने के लिए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से बात करेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story