Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इन 55 विधायकों पर दर्ज है अपराधिक मामले, जनता ने खुलकर दिया है समर्थन

बीते विधानसभा चुनाव में विधायक चुने गए 230 उम्मीदवारों को उनके क्षेत्र में हुए मतदान का औसतन 35 ही हािसल हुआ यानी 65 फीसदी मतदाताओं ने उन्हें अपना प्रतिनिधि नहीं चुना बल्कि अन्य उम्मीदवारों को वोट दिए।

इन 55 विधायकों पर दर्ज है अपराधिक मामले, जनता ने खुलकर दिया है समर्थन
X

भोपाल. बीते विधानसभा चुनाव में विधायक चुने गए 230 उम्मीदवारों को उनके क्षेत्र में हुए मतदान का औसतन 35 ही हािसल हुआ यानी 65 फीसदी मतदाताओं ने उन्हें अपना प्रतिनिधि नहीं चुना बल्कि अन्य उम्मीदवारों को वोट दिए। भाजपा के 109 में से 78, कांग्रेस के 114 में से 71, बसपा के दोनों, चारों निर्दलीय और सपा के इकलौते विधायक को भी 40 फीसदी से कम ही वोट हासिल हुए। विधायक चुने गए 10 उम्मीदवार तो एक हजार से भी कम वोट से जीते।

एडीआर की ताजा रिपोर्ट में विधानसभा चुनाव 2018 के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है और उसकी 2013 के चुनाव से तुलना की गई है। विश्लेषण बताता है कि पांच साल में प्रदेश में दलों की संख्या 82 फीसदी बढ़ गई। 2013 में छह राष्ट्रीय, नौ राज्य स्तरीय और51 गैर मान्यता प्राप्त दल चुनाव मैदान में थे, 2018 में पांच राष्ट्रीय, छह राज्य स्तरीय और 109 गैर मान्यता प्राप्त चुनाव में उतरे थे। 2013 के चुनाव मे जीतने वाले उम्मीदवारों ने उनके क्षेत्र में मतदान का औसतन 34.3 फीसदी वोट हासिल कर विधायकी पाई थी जबकि 2018 में दलों की संख्या बढ़ने के बावजूद विजयी प्रतयाशी को मिले औसत वोट करीब एक फीसदी बढ़कर 35.3 हो गए।

आपराधिक मामले वालों ने गैरआपराधिक मामले वालो को ज्यादा हराया

आपराधिक मामले वाले 94 में से 55 उम्मीदवार जीते। इतना ही नहीं उन्होंने गैर आपराधिक प्रकरण वाले उम्मीदवारों को हराया। जबकि आपराधिक प्रकरण नही होने वाल 50 उम्मीदवारों ने आपराधिक प्रकरण वाले प्रत्याशियों को हराया। इनमें से 8 ने तो 20 फीसदी से ज्यादा मतों के अंतर से विजय हासिल की।

187 में से 35 जीते, 30 गैर करोड़पतियों ने करोड़पतियों को हराया

चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों में से 187 करोड़पति थे, उनमें से 35 ने चुनाव जीता। उन्होंने गैर करोड़पति उम्मीदवारों को हरा दिसया। इसके उलट 30 गैर करोड़पति प्रत्याशियों ने करोड़पति उम्मीदवारों की उम्मीद पर पानी फेरकर विजय हासिल की।

महिलाओं में कांग्रेस की रक्षा सर्वाधिक वाेट हासिल करने वाली

विधानसभा चुनाव में 21 महिला प्रत्याशी विजयी रहीं। भांडेर से कांग्रेस के टिकट पर जीतीं रक्षा सरोनिया ने कुल मतदान का 62 फीसदी हासिल किया। इसी दल की डबरा से जीतीं इमरती ने 38 फीसदी मत प्राप्त किए।

फिर जीते 86 विधायकों में से कोई भी 20 फीसदी से कम से नहीं जीता

2013 में जीतकर विधायक बने और 2018 मेंं भी चुनाव मैदान में उतरे 86 प्रत्याशियों ने फिर जीत हासिल की। इनमें से कोई भी 20 फीसदी से कम अंतर से नहीं जीता जबिक 27 विधायक तो 50 फीसदी से ज्यादा वोट हासिल कर पुन: विजयी रहे। 26 विधायक पांच फीसदी से भी कम अंतर से जीत सके। 30 फीसदी से ज्यादा अंतर से फिर जीतने वाले विधायकाें की संख्या सिर्फ तीन है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story