Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश में कोरोना के कारण उप-चुनाव का प्रचार सोशल मीडिया से होगा, बड़ी रैली नहीं कर पाएंगी दोनों पार्टियां

मध्य प्रदेश के 15 जिलों की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में इस बार चुनाव प्रचार पूरी तरह से बदला-बदला सा रहेगा। कोरोना संकट और सोशल डिस्टेंस के कारण इस बार पहले की तरह सभा, रैली और जुलूस नहीं हो सकेंगे। सारा जोर सोशल मीडिया पर है।

मध्यप्रदेश में कोरोना के कारण उप-चुनाव का प्रचार सोशल मीडिया से होगा, बड़ी रैली नहीं कर पाएंगी दोनों पार्टियां
X

मध्य प्रदेश के 15 जिलों की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में इस बार चुनाव प्रचार पूरी तरह से बदला-बदला सा रहेगा। कोरोना संकट और सोशल डिस्टेंस के कारण इस बार पहले की तरह सभा, रैली और जुलूस नहीं हो सकेंगे। सारा जोर सोशल मीडिया पर है। भाजपा और कांग्रेस का फोकस सोशल मीडिया कैंपेन पर है। दोनों दलों ने अभी से अपनी ताकत झोंकना शुरू कर दिया है।

कोरोना संकट के कारण भले ही प्रदेश में अब अनलॉक 1.0 की शुरुआत हो गई हो, लेकिन यह तय माना जा रहा है उपचुनाव के दौरान किसी बड़ी सभा या कार्यक्रम की अनुमति नहीं मिलेगी। ऐसे में डोर टू डोर कैंपेन और सोशल मीडिया कैंपेन ही राजनीतिक दलों का बड़ा हथियार होंगे। इस बात को समझते हुए भाजपा और कांग्रेस ने सोशल मीडिया कैंपेन पर अभी से अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं।

भाजपा का आईटी सेल सक्रिय

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा अब तक करीब चार लाख लोगों से सोशल मीडिया के जरिए संपर्क साध चुके हैं। इसके साथ ही भाजपा आईटी सेल शिवराज सरकार की चौथी पारी में लिए गए बड़े फैसलों की वीडियो क्लिप बनाकर लोगों तक पहुंचा रही है। भाजपा आईटी सेल रोजाना 5 से 6 वीडियो तैयार करके उपचुनाव वाले जिलों में सरकार के कामकाज का बखान कर रहा है। इसमें प्रदेश सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार के फैसलों को भी रखा गया है। इसके अलावा सोशल मीडिया की बूथ स्तर तक टीम तैयार कर भाजपा से जोड़ने का अभियान चलाया जा रहा है।

कांग्रेस का सोशल मीडिया कैंपेन प्लान

कांग्रेस भी इस बार के उपचुनाव में सड़कों पर आंदोलन और सभा के बजाय सोशल मीडिया कैंपेन पर ही फोकस कर रही है। यही कारण है कि पूर्व सीएम कमलनाथ से लेकर उनके करीबी नेता सोशल मीडिया के जरिए कैंपेनिंग कर रहे हैं। कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष और मीडिया विभाग के प्रमुख जीतू पटवारी ने सोशल मीडिया कैंपेन का मोर्चा संभाल लिया है। जीतू पटवारी बूथ स्तर तक सोशल मीडिया टीम तैयार करने में जुटे हैं। इसके लिए हर दिन उपचुनाव वाले जिलों में पार्टी पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं से संपर्क साधा जा रहा है।

और पढ़ें
Next Story