Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बुजुर्ग मरीज से क्रूरता मामले में अस्पताल सील करने पहुंचा प्रशासनिक अमला, बिल नहीं देने पर बांधे थे हाथ-पैर

अस्पताल में भर्ती अन्य मरीजों को दूसरे अस्पतालों में किया जा रहा शिफ़्ट। पढ़िए पूरी खबर-

बुजुर्ग मरीज से क्रूरता मामले में अस्पताल सील करने पहुंचा प्रशासनिक अमला, बिल नहीं देने पर बांधे थे हाथ-पैर
X

शाजापुर। सिटी हॉस्पिटल में भर्ती बुजुर्ग मरीज को रस्सी से बांधने के मामले में जिला जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। इस मामले में प्रशासनिक अमला सिटी हॉस्पिटल को सील करने पहुंचा है। अस्पताल में भर्ती अन्य मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ़्ट किया जा रहा है।

गौरतलब है कि रनारा गांव के निवासी लक्ष्मीनारायण दांगी को पेट में तकलीफ होने पर शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां शनिवार को परिजन उन्हें घर ले जाना चाह रहे थे, किंतु बिल नहीं चुकाने के कारण अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें रोक लिया। मरीज की बेटी सीमा दांगी ने आरोप लगाए हैं कि उनके पास रुपए नहीं थे, इसलिए मरीज को ले जा रहे थे। अस्पताल के स्टाफ ने उन्हें रोक लिया और उनके पिता के पलंग से हाथ-पैर बांध दिए।

मरीज के पेट में तकलीफ होने पर पिता को भर्ती किया था। बीते शुक्रवार देर रात मामला उजागर हुआ है। इसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जानकारी लेने के बाद मरीज को घर जाने दिया।

इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा था कि वरिष्ठ नागरिक के साथ क्रूरतम व्यवहार का मामला सामने आया है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मामला सामने आने के बाद पुलिस, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी सक्रिय हुआ। देर शाम एसडीएम साहेब लाल सोलंकी स्वास्थ्य टीम के साथ अस्पताल पहुंचे और बयान लिए थे।

वहीं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मरीज का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि- 'प्रदेश के शाजापुर में एक अस्पताल में एक बुजुर्ग व्यक्ति से ऐसा अमानवीय , बर्बर व्यवहार। बेटी का आरोप अस्पताल का बिल नहीं चुकाने पर पिता के हाथ-पैर रस्सियों से बांध बंधक बनाया।'

Next Story