Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari: उत्तराखंड में भारी बारिश से चारों तरफ तबाही, मौसम विभाग ने 5 दिन का अलर्ट किया जारी

Mausam Ki Jankari: इन दिनों पहाड़ी इलाकों में मूसलाधार बारिश की वजह से लैंडस्लाइड हो रही है जिसकी वजह से स्थानीय लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Mausam Ki Jankari:  उत्तराखंड में भारी बारिश से चारों तरफ तबाही, मौसम विभाग ने 5 दिन का अलर्ट किया जारी
X

Mausam Ki Jankari: इन दिनों पहाड़ी इलाकों में मूसलाधार बारिश की वजह से लैंडस्लाइड हो रही है जिसकी वजह से स्थानीय लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं मौसम विभाग ने उत्तराखंड में अगले 5 दिनों तक भारी बारिश को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया है भारी बारिश की वजह से कई इलाकों में घर बह गए पहाड़ गिर गए जिसकी वजह से लैंडस्लाइड हो गया और रास्ते बंद हो गए हैं

मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड के कई पहाड़ी इलाकों में आने वाले 5 दिनों तक जमकर बरसात होगी और इसको लेकर भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। मौसम विभाग ने कहा कि बारिश की वजह से कई इलाकों में भूस्खलन भी हो सकता है। ऐसे में सभी लोग सावधानी से रहे पहाडों में कई दिन से जारी मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है और यह मुसीबत कम होती नहीं दिख रही है।

इन जिलों में भारी बारिश से तबाही

जानकारी के लिए बता दें कि उत्तराखंड के देहरादून, बागेश्वर, अल्मोड़ा, रामनगर , रानीखेत इन इलाकों में कई जगहों पर 3 दिनों से बारिश ने आफत मचा रखी है। इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित बागेश्वर जिला है। जहां बीते 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही है और इसकी वजह से यहां पर कई जगहों पर सड़क बंद हो गई है।

वहीं दूसरी तरह कपकोट में भी लगातार बारिश की वजह से पहाड़ों से लैंडस्लाइड की घटनाओं की जानकारी मिल रही है। कपकोट में 18 सड़कों पर लैंडस्लाइड हुआ है। जिससे यहां के 40 गांव प्रभावित हुए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि उत्तराखंड में भारी बारिश की वजह से कई जगहों पर मौत की घटनाएं भी सामने आई है।

भूस्खलन से कई रास्ते बंद

वहीं दूसरी तरफ ऋषिकेश केदारनाथ और ऋषिकेश बदरीनाथ सड़क मार्ग पर कई जगहों पर नदियां उफान पर हैं और पहाड़ों पर ऊपर से पानी आने की वजह से सड़कों में दरारें पड़ गई हैं। इसकी वजह से कई जगहों पर चट्टानें खिसक गई है। इसको लेकर भी मौसम विभाग ने लोगों से सावधान रहने के लिए चेतावनी जारी कर दी है।

उत्तराखंड में भारी बारिश की वजह से हुए भूस्खलन के चलते कई रास्ते बंद हो गए हैं। ऋषिकेश-केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग रुद्रप्रयाग जिले में बांसवाड़ा के पास भूस्खलन के कारण बंद हो गया है।

पहाड़ से पत्थर गिरने से अधिकारी की हुई मौत

वहीं दूसरी तरफ चमोली जिले में पत्थर गिरने से एक अधिकारी की मौत हो गई। अलग-अलग जगहों पर लैंडस्लाइड हो रहा है। जिसकी वजह से कई जगह पर लोग घायल भी हो गए हैं। पोखरी नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी नंदराम तिवारी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

बीते दिन रुद्रप्रयाग में फट गया था बादल

दूसरी तरफ बीते दिन रुद्रप्रयाग जिले में बादल फट गया था। जिसकी वजह से कई लोगों ने वहां से पलायन शुरू कर दिया था। बादल फटने के बाद गांव को छोड़कर रातों-रात लोग चले गए और बादल फटने की वजह से घरों में मलबा घुस गया। जिसके से भारी नुकसान हुआ है। लगातार बारिश से देहरादून की रिस्पना, बिंदाल, तमसा आदि नदियां भी उफान पर हैं और उनके समीप स्थित इलाकों में घरों में पानी घुस गया है।

Next Story