Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यूपी : बुलंदशहर में तीज के पर्व पर कबड्डी का अभ्यास देखकर दर्शकों ने उठाया लुफ्त

कोरोना की वजह से यूपी समेत देशभर में इस बार सावन माह में तीज का पर्व फीका रहा है। यूपी के बुलंदशहर के गांव पौन्डरी में गुरुवार को प्रतिदिन अभ्यास करने वाले कुछ युवा जरूर कबड्डी का मैच खेलते हुए नजर आए। पर इन पर भी कोरोना की मार साफ झलक रही थी। वहां एका - दूका ही दर्शक ही खेल का लुफ्त उठाते नजर आए।

up viewers were tempted by watching kabaddi practice on teej festival in bulandshahr
X
तीज के पर्व युवाओं ने खेला कबड्डी का अभ्यास मैच

कोरोना की वजह से यूपी समेत देशभर में इस बार सावन माह में तीज का पर्व फीका रहा है। यूपी के बुलंदशहर के गांव पौन्डरी में गुरुवार को प्रतिदिन अभ्यास करने वाले कुछ युवा जरूर कबड्डी का मैच खेलते हुए नजर आए। पर इन पर भी कोरोना की मार साफ झलक रही थी। वहां एका - दूका ही दर्शक ही खेल का लुफ्त उठाते नजर आए। जानकारी है कि पिछले सालों में जब यहां सावन माह में तीज के अवसर पर कुश्ती, कबड्डी के आयोजन होते थे तो नजरा अलग ही होता था। खेल को देखने वाले सैंकड़ो लोग उपस्थित होते थे, इस बार खेल को देखने वाले इका-दूका ही लोग थे। वहीं कुछ फेरी वाले भी अपने चांट - पकौड़े और फल आदि बेचते नजर आते थे पर इस बार कोई नहीं था।

बुलंदशहर के गांव पौन्डरी में गुरुवार को सुबह से ही चर्चाएं चल रही थी कि तीज का पर्व है। इस बार गांव में कोई खेल होगा या नहीं। हुआ भी यही कि कोरोना की वजह से गांव के जिममेदार लोगों ने किसी भी खेल का कोई भी आयोजन होने ही नहीं दिया। फिर भी कुछ ग्रामीण पिछले वर्ष की भांति दोपहर बाद गांव के मैदान में पहुंच गए। लेकिन वहां किसी खेल का आयोजन ही नहीं हो रहा था तो खेल प्रमियों को निराशा ही हाथ लगी। फिर भी उन्होंने अपना मन जरूर बहला लिया, क्योंकि वहां पर मुनेश कुमार, गोलू राठी, रितिक राठी, मनोज राठी, दुश्यंत कश्यप, राकेश कुमार, पिलूआ, सौरव कुमार और अमित कुमार समेत 10 से 12 लड़के प्रतिदिन की तरह कबड्डी का अभ्यास कर रहे थे। कबड्डी के अभ्यास को ही देखकर वहां पहुंचे कुछ खेल प्रेमियों ने अपने मन को बहला लिया। कबड्डी का अभ्यास करते हुए युवाओं की एक वीडियो भी मिली है, जिसमें लड़के कबड्डी का अभ्यास करते हुए साफ नजर आ रहे हैं। युवा लड़के अच्छी भूर्ती और जोश का नजारा भी पेश करते नजर आ रहे हैं। वहीं दूसरों में भी खेल से जुड़ने की भावना प्रेरित कर रहे हैं। वहीं एका - दूका दर्शक भी खेल का लुफ्त ले रहे हैं।

वहां मौजूद एक खेल प्रेमी पवन राठी ने बताया कि बीते सालों में तीज के मौके पर हमारे गांव में कबड्डी, कुश्ती का आयोजन होता था। पर इस बार कोरोना की वजह से किसी भी खेल का आयोजन नहीं किया गया है। कोरोना महामारी के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि हमारे गांव में अभी तक कोई संक्रमित मामला सामने नहीं आया है। सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और अन्य जरूरी सभी बातों का पालन करते हैं। बिना कार्य के कहीं बाहर घूमने भी नहीं जाते हैं। एक और खेल प्रेमी साबू मलिक ने बताया कि ये युवा लड़के सेना और पुलिस की भर्तियों की तैयारी कर रहे हैं। इसलिए ये युवा लड़के प्रतिदिन दौड़ते हैं और कसरत करते हैं।

वहीं मौजूद खेल का आन्नद ले रहे प्रशांत राठी और नितिन राठी ने बताया कि गांवों में तीज पर्व बड़े ही धूम - धाम से मनाया जाता है। पर इस बार कोरोना की वजह से तीज पर्व बिल्कुल फीका पड़ गया। इस पर्व के मौके पर शहर - शहर और गांव - गांव महिलाएं अपनी टोलियों में खेल - कूद प्रतियोगिताओं में भाग लेती थी और पुरूष भी देहातों में कुश्ती, ऊंची कूद और कबड्डी समेत अन्य खेल क्रीणाओं में भाग लेते दिखाई देते थे। पर इस बार कोरोना महामारी की वजह से कहीं से भी कोई खेल टूर्नामेंट आयोजित होने की सूचना नहीं आई है। तो ऐसे ही कबड्डी का अभ्यास मैच देखकर मन बहला रहे हैं।

Next Story