Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP Panchayat Election 2021: सजायाफ्ता कुलदीप सेंगर की बेटी ने बीजेपी का टिकट कैंसिल होने पर पोस्ट किया इमोशनल वीडियो, बोलीं- कसूर बताओ

Unnao Panchayat Election में कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को बीजेपी ने प्रत्याशी घोषित किया था। Unnao Rape Case में सजायाफ्ता पूर्व विधायक की पत्नी को टिकट देने का मामला तूल पकड़ा तो बीजेपी ने अपना निर्णय वापस लेते हुए टिकट काट दिया। अब ऐश्वर्या ने इमोशनल वीडियो जारी कर इस पर सवाल उठाए हैं।

UP Panchayat Election 2021: सजायाफ्ता कुलदीप सेंगर की बेटी ने बीजेपी का टिकट कैंसिल होने पर पोस्ट किया इमोशनल वीडियो, बोलीं- कसूर बताओ
X

ऐश्वर्या, संगीता और कुलदीप सेंगर की फाइल फोटो। 

उत्तर प्रदेश के उन्नाव रेप केस ( Unnao Rape Case) में सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Senger) की बेटी ऐश्वर्या सेंगर (Aishwarya Sengar) ने अपनी मां संगीता सेंगर (Sangeeta Senger) का टिकट काट दिए जाने के बाद एक इमोशनल वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने पूछा है कि पिता की गलतियों के लिए वो और उनकी मां कैसे जिम्मेदार हो गई हैं। ऐश्वर्या की मां संगीता सेंगर को बीजेपी ने उन्नाव पंचायत चुनाव (Unnao Panchayat Chunav) के लिए टिकट दिया था, जो लोगों के विरोध के चलते काट दिया गया।

वीडियो में ऐश्वर्या कहती हैं, 'नमस्कार, मेरा नाम क्या है इससे शायद अब फर्क ही नहीं पड़ता, लेकिन मेरा सरनेम सेंगर है। पिछले तीन साल से मेरे परिवार पर अन्याय पर अन्याय किया जा रहा है। मेरी मां संगीता सिंह सेंगर पिछले 15 वर्षों से उन्नाव में जिला पंचायत सदस्य हैं। वे सक्रिय राजनीति का हिस्सा रही हैं, ईमानदारी और निष्ठा के साथ अपना हर दायित्व निभाती आ रही हैं। इसी कारण सभी सदस्यों द्वारा उन्हें जिला पंचायत अध्यक्ष भी चुना गया। आज एक महिला नेता की योग्यता, उनका अनुभव, उनकी मेहनत को ताक पर रख दिया गया।'

ऐश्वर्या आगे कहती हैं कि इस देश में महिलाओं के लिए रिजर्वेशन तो तय कर दिया है, लेकिन जब वो चुनाव के लिए आगे आती हैं तो उनके पति और पिता कौन हैं, ये क्यों महत्वपूर्ण हो जाता है? क्या एक औरत की योग्यता किसी की बहन या बीवी होने से कम हो जाती है? उसकी खुद की कोई पहचान नहीं? मैं आपसे सिर्फ अपनी मां की गलती पूछना चाहती हूं कि वो दागी कैसे हुईं? क्या मुझे और मेरी मां को सम्मान से जीने का अब हक नहीं है? आज बोल रही हूं क्योंकि एक बार अन्याय को फिर से चुपचाप सुन लिया तो शायद जमीर जिंदा रहना न गंवारा करे।'

बीजेपी ने दिया था टिकट

संगीता सेंगर उन्नाव जिला पंचायत की निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। बीजेपी ने उन्हें फतेहपुर चौरासी तृतीय के वार्ड नम्बर 22 से प्रत्याशी घोषित किया था, लेकिन दुष्कर्म केस में सजायाफ्ता कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को टिकट देने का मामला तूल पकड़ने के बाद पार्टी ने संगीता का टिकट काट दिया था। उन्नाव में तीसरे चरण का चुनाव होना है, जिसके लिए 13 अप्रैल से नामांकन दाखिल किए जाएंगे। बीजेपी इस सीट से किसे उतारेगी, यह अभी स्पष्ट नहीं है।

ये भी पढ़ें : UP Panchayat Election 2021: भाजपा ने उन्नाव दुष्कर्म केस में सजायाफ्ता कुलदीप सेंगर की पत्नी को दिया टिकट, बताई ये वजह

कौन है कुलदीप सिंह सेंगर?

पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके साथियों ने 2017 में नागबालिग को अगवाकर दुष्कर्म किया था। पीड़िता ने जब पुलिस को शिकायत दर्ज कराई तो उसे और उसके परिवार को भारी प्रताड़ना झेलनी पड़ी। दुष्कर्म की शिकायत तब दर्ज की गई थी, जब पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लखनऊ स्थित आधिकारिक आवास के बाहर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। कुलदीप सेंगर को साल 2018 में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद बीजेपी ने उसे अगस्त 2019 में पार्टी से निष्काषित कर दिया था। कुलदीप सेंगर उम्रकैद की सजा काट रहा है।

Next Story