Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

10 शादियां की, लेकिन नहीं मिला वारिस, अब इस कारण से हुई दर्दनाक हत्या...

पुलिस हत्या के पीछे पैतृक संपत्ति को कारण मान रही है। 52 वर्षीय जगनलाल के नाम करोड़ों रुपये की पैतृक संपत्ति थी, जिसे वह अपने दत्तक पुत्र के नाम स्थानांतरित करना चाह रहा था। मामले में मृतक की पत्नियों समेत उसके तमाम रिश्तेदारों पर भी शक है।

10 शादियां की, लेकिन नहीं मिला वारिस, अब इस कारण से हुई दर्दनाक हत्या...
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बरेली में 10 शादियां करने वाले शख्स को वारिस नहीं मिला तो उसने अपने साथ रह रहे एक युवक के नाम सारी संपत्ति को ट्रांसफर करने की सोची। इससे पहले कि वह कोई कदम उठा पाता, किसी ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। उसका शव एक खेत से बरामद हुआ। मृतक के जीवन से कई ऐसे विवाद जुड़े हैं, जिससे पुलिस के लिए यह मामला सुलझाना चुनौती बन गया है। बहराल, हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

पुलिस के मुताबिक बरेली के 52 वर्षीय जगनलाल यादव ने पहली शादी 90 के दशक की शुरुआत में की थी। शुरुआती जांच में पता चला कि उसकी पांच पत्नियों की मौत बीमारी से हो गई थी, जबकि तीन पत्नियां उसे छोड़कर अन्य पुरुषों के साथ रहने लगी थी। अभी दो पत्नियां उसके साथ रह रही थी, जिनकी उम्र 35 और 40 साल के करीब है। दोनों ही पश्चिम बंगाल की रहने वाली हैं। दस शादियां करने के बाद भी जगनलाल का खुद की संतान नहीं थी। ऐसे में उसने अपनी एक पत्नी के पहले पति से पैदा हुए बेटे को गोद ले लिया था। जगनलाल को करोड़ों रुपये की पैतृक संपत्ति मिली थी। वह तमाम संपत्ति को अपने दत्तक पुत्र के नाम ट्रांसफर करना चाहता था, लेकिन ऐसा करने से पहले ही किसी ने उसकी दर्दनाक हत्या कर दी।

पहले परिवार ने कर दिया था बेदखल...

पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि जगनलाल के बार-बार शादी करने से परेशान होकर उनके पिता ने उसे अपनी संपत्ति से बेदखल कर दिया था। जगनलाल के पिता ने 70 बीघा जमीन का स्वामित्व अपने बड़े भाई के नाम कर दिया था। इस पर परिवार में विवाद हो गया। 1999 में पंचायत ने पारिवारिक विवाद का अंत कराते हुए 14 बीघा जमीन जगनलाल के नाम स्थानांतरित करने का फरमान सुनाया, जिसे सभी ने मान लिया था। जगनलाल के हिस्से जो जमीन आई थी, उसकी भी करोड़ों रुपये कीमत है। पुलिस को शक है कि जगनलाल की हत्या जमीन के लिए ही की गई है।

इन लोगों पर है शक...

पुलिस को जगनलाल की पत्नियों के अलावा उनसे जुड़े तमाम रिश्तेदारों पर शक है। जगनलाल के बड़े भाई को भी आपत्ति थी कि पारिवारिक जमीन को दत्तक पुत्र के नाम क्यों किया जा रहा है। जांच अधिकारी मनोज त्यागी ने बताया कि जगनलाल की हत्या गला दबाकर की गई है। उसके सिर पर चोट के निशान भी मिले हैं। हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है। आरोपी जो कोई भी हो, उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Next Story