Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वाराणसी में सीएम योगी ने पूर्व सरकारों पर बोला हमला, कहा- संकीर्ण एजेंडे की वजह से तय नहीं हो पाता था विकास का विजन

सीएम योगी ने वाराणसी में बीजेपी के प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित किया। इससे पूर्व उन्होंने वाराणसी के सर्किट हाउस में विकास कार्य के साथ ही कोविड तथा बाढ़ के बाद की स्थिति की भी समीक्षा की।

वाराणसी में सीएम योगी ने पूर्व सरकारों पर बोला हमला, कहा- संकीर्ण एजेंडे की वजह से तय नहीं हो पाता था विकास का विजन
X

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन को संबोधित किया। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को भाजपा (BJP) के वाराणसी (Varanasi) में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन (Enlightened Class Conference) में पूर्व की सरकारों पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारें एक संकीर्ण एजेंडा (Narrow Agenda) लेकर आती-जाती रहीं, जिसकी वजह से विकास का विजन (Vision Of Development) ही तय नहीं हो सका। सीएम योगी ने इससे पहले वाराणसी के सर्किट हाउस में विकास कार्य के साथ ही कोविड (Covid) तथा बाढ़ (Flood) के बाद की स्थिति की भी समीक्षा की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश में 1947 से सरकारें चली आ रही हैं। लेकिन सरकार का विकास का विज़न तय नहीं हो पाता था, अपने एक संकीर्ण एजेंडे के साथ सरकारें आती-जाती थीं। उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि एक नेतृत्व वो था, जिसने आज़ादी के तत्काल बाद सोमनाथ मंदिर के कार्य के शुभारंभ का विरोध किया था और एक नेतृत्व आज है, जो अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण कार्य के लिए प्रत्यक्ष रूप से उपस्थित होकर 5 सदी के इंतजार को दूर कर गौरव की अनुभू​ति कर रहा है।

सीएम योगी ने कहा कि एक वक्त था, जब प्रदेश में कोई भी त्योहार बिना दंगों के नहीं होता था। पिछले चार सालों में प्रदेश में व्यापक परिवर्तन दिखाई पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश आज प्रगति के पथ पर अग्रसर है। यहां प्रति व्यक्ति आय बढ़ी है। यूपी को हमने अर्थव्यवस्था में चौथे स्थान की रैकिंग से लाकर दूसरे स्थान पर खड़ा कर दिया है। प्रदेश सरकार ने प्रत्येक वर्ग के लिए कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इन बदलावों को काशी ने भी महसूस किया होगा।

इससे पूर्व सीएम योगी ने वाराणसी के सर्किट हाउस में विकास कार्य के साथ ही कोविड तथा बाढ़ के बाद की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद में किसी प्रकार की कोताही नहीं होनी चाहिए। वाराणसी दौरे से पहले VSAV इंटर कॉलेज, गोला, गोरखपुर में बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री भी वितरित की।

Next Story