Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP Budget 2021 : कोरोना कंट्रोल करने में सबसे आगे रहा यूपी, वैक्सीनेशन के लिए मिले महज 50 करोड़ रुपए, लोगों को थी इस तोहफे की उम्मीद...

उत्तर प्रदेश में कोरोना नियंत्रण की दिशा में हुए कार्यों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सराहा था। कोरोना वैक्सीनेशन और कोरोना टेस्टिंग, दोनों में यूपी ने देश के तमाम राज्यों को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में उम्मीद थी कि कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर सरकार से ये खास तोहफा मिल सकता है...

UP Budget 2021 : कोरोना कंट्रोल करने में सबसे आगे रहा यूपी, वैक्सीनेशन के लिए मिले महज 50 करोड़ रुपए, लोगों को थी इस तोहफे की उम्मीद...
X

योगी सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन के लिए 50 करोड़ रुपए की बजट राशि प्रस्तावित की। 

दुनियाभर के लिए सिरदर्द बने कोरोना वायरस पर नियंत्रण रखने में उत्तर प्रदेश सरकार, कोरोना वॉरियर्स और आम लोगों ने शानदार काम किया। कोविड 19 टेस्टिंग की बात हो या फिर कोरोना वैक्सीनेशन की, यूपी देश के तमाम राज्यों से आगे निकल गया। उम्मीद थी कि इन उपलब्धियों के चलते प्रदेश सरकार लोगों को मुफ्त कोरोना वैक्सीनेशन की सौगात देगी, लेकिन ऐसा कोई एलान नहीं हुआ। यूपी बजट 2021 में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए महज 50 करोड़ रुपए की बजट राशि प्रस्तावित की गई है, जो यहां की 24 करोड़ की आबादी लिए कम दिखाई दे रही है।

उत्तर प्रदेश में कोरोना नियंत्रण की दिशा में हुए कार्यों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सराहा था। कोरोना वैक्सीनेशन और कोरोना टेस्टिंग, दोनों में यूपी ने देश के तमाम राज्यों को पीछे छोड़ दिया है। यूपी ऐसा पहला राज्य बना था, जहां सबसे पहले तीन करोड़ से अधिक लोगों के टेस्ट किए गए। कर्नाटक 1.8 करोड़ कोरोना जांच के साथ दूसरे नंबर पर था। तमिलनाडु में 1.7 करोड़, महाराष्ट्र 1.5 करोड़ और आंध्र प्रदेश 1.4 करोड़ लोगों की कोरोना जांच कर क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें नंबर पर थे।

वहीं वैक्सीनेशन की बात करें तो दस लाख लोगों को कोरोना टीका लगाकर यूपी ने पहला स्थान हासिल किया था। स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की इस उपलब्धि को ट्वीट कर साझा किया था। ऐसे में लोग उम्मीद कर रहे थे कि योगी सरकार प्रदेश के लोगों को फ्री कोरोना वैक्सीनेशन का तोहफा देगी, लेकिन सरकार ने महज 50 लाख रुपए की बजट राशि ही इसके लिए प्रस्तावित की है।

यूपी बजट में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के लिए 5395 करोड़ रुपए, आयुष्मान भारत योजना के लिए 1300 करोड़ रुपए, मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए 142 करोड़ रुपए, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना में 320 करोड़ रुपये की बजट राशि प्रस्तावित की गई है।

Next Story