Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP Corona Update : शिवपाल यादव ने कोरोना महामारी के बीच सीएम योगी को लिखी चिट्ठी, सैफई के लिए मांगी यह सुविधा

उत्तर प्रदेश में कोरोना के चलते हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं। इस बीच जसवंतनगर से विधायक शिवपाल यादव ने ऐसा आरोप लगाया है, जिसने कोरोना महामारी से निपटने की पूर्व की तैयारियों पर ही प्रश्नचिह्न लगा दिया है।

UP Corona Update : शिवपाल यादव ने कोरोना महामारी के बीच सीएम योगी को लिखी चिट्ठी, सैफई के लिए मांगी यह सुविधा
X
शिवपाल यादव की फाइल फोटो।  

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में जहां योगी सरकार त्वरित निर्णय ले रही है, वहीं विपक्ष उन खामियों को उजागर कर रहा है, जिसे दूर करने से कोविड-19 के कहर को कम किया जा सकता है। इसी कड़ी में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता और जसवंतनगर से विधायक शिवपाल यादव ने सीएम योगी को चिट्टी लिखकर ध्यान आकर्षित किया है।

सीएम योगी को लिखी चिट्ठी में शिवपाल यादव ने कहा कि इटावा स्थित उप्र: आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई के ऑक्सीजन प्लांट के 2 यूनिट बंद पड़े हैं। प्रति यूनिट 27000 (सम्पूर्ण 54000) लीटर क्षमता वाले इन विशाल प्लांटों का दो वर्षों से बंद पड़ा रहना न सिर्फ दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि संस्थान में पसरे अकर्मण्यता और भ्रष्टाचार की ओर भी इशारा करता है। आज अगर यह प्लांट क्रियाशील होता तो न सिर्फ संस्थान ऑक्सीजन के लिए आत्मनिर्भर होता बल्कि दूसरे जनपदों व संस्थानों को ऑक्सीजन उपलब्ध करा रहा होता।

शिवपाल यादव ने आगे लिखा, ऑक्सीजन प्लांट का दो वर्षों से बंद पड़ा रहना और संज्ञान में न लाया जाना न सिर्फ प्रशासनिक लापरवाही व भ्रष्टाचार का विषय है बल्कि कुछ उच्च अधिकारियों के कमीशनखोरी के चक्कर में चीजों को लटका देने की प्रवृत्ति का भी परिणाम है। ऐसे में प्लांट की इस दशा के लिए जिम्मेदार उच्च अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की भी आवश्यकता है।

शिवपाल यादव ने उप्र: आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई के ऑक्सीजन प्लांट को तत्काल शुरू कराने की मांग करते हुए लिखा कि वर्तमान में संस्थान बाह्य आपूर्ति पर निर्भर है। ऐसे में मरीजों का जीवन आपूर्ति व्यवस्था के निर्बाध संचालन के भरोसे ही है। संस्थान में कुछ ही घंटों का ऑक्सीजन शेष है और मरीजों का जीवन संकट में है। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस संबंध में जल्द से जल्द आदेश जारी करने का आग्रह किया।

Next Story