Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इन चुनावों में शिवपाल यादव की पार्टी नहीं लेगी हिस्सा, 2022 में यह है उनकी पार्टी की रणनीति

शिवपाल ने कहा समाजवादी परिवार को एक होने नहीं देना चाहते कुछ लोग। भाजपा को हराने के लिए सभी का एक साथ आना जरूरी।

इन चुनावों में शिवपाल यादव की पार्टी नहीं लेगी हिस्सा, 2022 में यह है उनकी पार्टी की रणनीति
X

उत्तर प्रदेश में चुनावों का दौर लगभग शुरू हो गया है। इसके लिए नेताओं से लेकर राजनीतिक पार्टी के अध्यक्षों ने रणनीति बना ली है। और दूसरे राजनीतिक पार्टी से लेकर सरकार पर भी बयान बाजी का दौर शुरू हो गया है। बसंत पंचमी पर लोगों को बधाई देने के साथ ही (Psp President Shivpal Yadav) प्रसपा अध्यक्ष द्वारा भाजपा सरकार पर जुबानी हमला किया। उन्होंने कहा कि (Bjp Government) भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार बहुत ज्यादा है। इसके साथ ही उन्होंने उत्तर प्रदेश में होने वाले प्रधानी चुनाव से लेकर जिलापंचायत, जिलाध्यक्ष और 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर अपनी पार्टी प्रसपा की रणनीति साफ की।

दरअसल, प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव ने बसंत पंचमी की सभी को बधाई देते हुए कहा कि मां सरस्वती सबको सद्बुद्धि दें'। इसी के बाद उन्होंने सरकार पर कटाक्ष किया। शिवपाल यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार में भ्रष्टाचार बहुंत हो रहा है। इसको खत्म करने के लिए सभी विपक्ष दलों को एक साथ आना होगा। इतना ही नहीं आगे उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी 2022 का चुनाव सबके साथ मिलकर लडेगी। इसमें सबसे पहली प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। शिवपाल ने कहा कि हम चाहते है समाजवादी परिवार एक हो जाये, लेकिन कुछ लोग परिवार को एक नहीं होने देना चाहते हैं। मां सरस्वती उन लोगों को भी सद्बुद्धि दें।

प्रधानी चुनाव नहीं लड़ेगी प्रसपा

शिवपाल ने कहा कि यूपी में चुनाव का दौर शुरू हो गया है। इसमें सबसे पहले प्रधानी है, लेकिन हमारी पार्टी यानि प्रसपा प्रधानी चुनाव में नहीं उतरेगी। जिलापंचायत, जिलाध्यक्ष के चुनावों में प्रसपा चुनावी मैदान में उतरेगी। इसके साथ ही शिवपाल ने कहा कि पार्टी ने 2022 की तैयारी भी शुरू कर दी है। बीजेपी को हराने के लिए सभी को एक होना चाहिए। सभी इस को हटाया जा सकेगा।

Next Story