Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एकेडमी शौचालय में CCTV, 52 टीचर ने लगाया स्कूल संचालक पर अश्लील फोटो लेकर प्रताड़ित करने का आरोप

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के एक स्कूल के 52 टीचरों ने स्कूल संचालक पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। टीचरों का आरोप है कि संचालक ने शौचालय में सीसीटीवी कैमरा लगाया है। इस कैमरे के जरिए अश्लील फोटो निकालकर लोगों को प्रताड़ित करता है।

एकेडमी शौचालय में CCTV, 52 टीचर ने लगाया स्कूल संचालक पर अश्लील फोटो लेकर प्रताड़ित करने का आरोप
X
एकेडमी शौचालय में CCTV

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में स्थित ऋषभ एकेडमी के शौचालय में सीसीटीवी कैमरे लगे होने का मामला सामने आया है। इस स्कूल के 52 टीचरों ने स्कूल संचालक पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। टीचरों का आरोप है कि संचालक ने शौचालय में सीसीटीवी कैमरा लगाया हुआ है।

इस कैमरे के जरिए अश्लील फोटो निकालकर लोगों को प्रताड़ित करता है। टीचरों के बयान के तहत स्कूल संचालक रंजीत जैन और बेटे अभिनव जैन के खिलाफ IPC की धारा 354(क) 354(ग) 506 के तहत FIR दर्ज कर ली गई है।

52 टीचरों के बयान पर केस दर्ज

पुलिस का कहना है कि 52 महिला टीचरों ने अपने बयान में बताया कि स्कूल संचालक सभी को सैलरी नहीं दे रहे हैं। साथ ही शौचालय में सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। इस कैमरे के जरिए संचालक लोगों की अश्लीली फोटो निकाला करता था।

इतना ही नहीं फोटो के जरिए लोगों को ब्लैकमेल कर उनके साथ गलत काम करने का दबाव बनाया करते थे। मामले को बढ़ते देख हम सभी 52 टीचरों ने स्कूल संचालक रंजीत जैन और उनके बेटे अभिनव जैन के खिलाफ आवाज उठाई है।

जबकि स्कूल प्रबंधक का कहना है कि सभी आरोप झूठे हैं। हमें गलत आरोप में फंसाया जा रहा है। यह सभी आरोप एक साजिश के तहत रचा गया है। ताकि उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर किया जा सकें।

महिला टीचर के पक्ष में व्यापारिक संगठन

पुलिस ने कहा कि इस मामले के तहत मंगलवार को एएसपी कैंट ईरज राजा और सदर थाने की पुलिस ऋषभ एकेडमी में जांच करने के लिए पहुंची थी। इसके बाद रंजीत जैन और उनके बेटे अभिनव जैन के खिलाफ छेड़छाड़ और धमकी देने के मामले में केस दर्ज किया गया है।

आगे की जांच के बाद जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा सकता है। वहीं, अब इस मामले में महिला टीचर के साथ व्यापारिक संगठन भी खड़ा हो गया है। इस मामले में व्यापारियों का कहना है कि यह मुद्दा बेहद गंभीर है।

इस मुद्दे को लेकर मेरठ व्यापार मंडल जिलाधिकारी से मुलाकात करेगें। ताकि मामले की निष्पक्ष जांच कर ऋषभ अकादमी की मान्यता रद्द को किया जाए।


Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story