Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नीता अंबानी को नहीं बनाया गया बीएचयू का विजिटिंग प्रोफेसर, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने किया खंडन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएचयू में नीता अंबानी को विजिटिंग प्रोफेसर बनाए जाने की सूचना पर मंगलवार को विवि परिसर में स्टूडेंट्स ने खासा हंगामा किया था। कुलपति आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र इस नियुक्ति को रद करने की मांग पर अड़े थे।

नीता अंबानी को नहीं बनाया गया बीएचयू का विजिटिंग प्रोफेसर, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने किया खंडन
X

रिलायंस इंडस्ट्रीज की कार्यकारी निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अंबानी की फाइल फोटो। 

रिलायंस इंडस्ट्रीज की कार्यकारी निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अंबानी को बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) में विजिटिंग प्रोफेसर बनाए जाने की खबर का खंडन किया गया है। एएनआई के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने नीता अंबानी को बीएचयू से विजिटिंग प्रोफेसर बनाए जाने का निमंत्रण मिलने का खंडन किया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज का पक्ष विवि परिसर में हुए छात्रों के हंगामे के बाद बुधवार को सामने आया है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएचयू में नीता अंबानी को विजिटिंग प्रोफेसर बनाए जाने की सूचना पर मंगलवार को विवि परिसर में स्टूडेंट्स ने खासा हंगामा किया था। कुलपति आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र इस नियुक्ति को रद करने की मांग पर अड़े थे। स्टूडेंट्स का आरोप था कि विश्वविद्यालय का निजीकरण करने की कोशिश की जा रही है। चूंकि मामला दुनिया के सबसे अमीर परिवार से जुड़ा था, लिहाजा सोशल मीडिया पर भी चर्चाओं का दौर शुरू हो गया।

समाचार न्यूज एजेंसी एएनआई ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के हवाले से बताया है कि नीता अंबानी के बीएचयू में विजिटिंग प्रोफेसर नियुक्त होने की सूचना गलत है। उन्हें बीएचयू की तरफ से ऐसा कोई निमंत्रण नहीं मिला। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएचयू के संकाय प्रमुख प्रोफेसर केके मिश्र अभी तक अपनी बात पर अड़े हैं। उनका कहना है कि उनको इस संबंध में प्रस्ताव भेजा गया है, जिसके पर्याप्त साक्ष्य उनके पास उपलब्ध हैं। बहरहाल अब रिलायंस की ओर से इस आशय को लेकर खंडन जारी होने के बाद प्रकरण का पटाक्षेप हो गया है।

Next Story