Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लखीमपुर खीरी रेप हत्या पर मायावती का तंज, कहा ऐसी घटनाओं के बाद बीजेपी-सपा में फिर अंतर ही क्या?

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में घटित रेप और नृशंस हत्या की घटना पर बसपा मुखिया मायावाती ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इस घटना के बाद बीजेपी और सपा की सरकार में अंतर ही क्या रह गया।

लखीमपुर खीरी रेप हत्या पर मायावती का तंज, कहा ऐसी घटनाओं के बाद बीजेपी-सपा में फिर अंतर ही क्या?
X
लखीमपुर खीरी रेप हत्या पर मायावती का तंज

उत्तर प्रदेश के लखीमीरी खीरी में घटित गैंगरेप और क्रूरता के साथ हत्या इंसानियत की सारी हदें पार कर गई। यह एक बेहद शर्मनाक घटना है। जहां आरोपी अपनी हैवानियत की भूख को मिटाने के लिए खुद के अंदर की इंसानियत को मार बैठा।

वहीं, इस घटना पर बसपा मुखिया मायावाती ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। साथ ही इस घटना के तहत दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। मायावती ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट की।

बीजेपी पर मायावती का निशाना

उनहोंने लिखा कि अगर बीजेपी सरकार की दौर में भी बच्चियों के साथ रेप और नृशंस हत्या जैसी शर्मनाक घटनाएं होती है, तो फिर बीजेपी और समाजवादी पार्टी की सरकार में क्या अंतर रह गया। आगे लिखा कि प्रदेश में आए दिन लगातार बच्चियों के साथ ऐसी घटनाएं हो रही है, जो बेहद शर्मनाक है।

उन्होंने कहा कि यूपी के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद और शर्मनाक है। यहां की सरकार आजमगढ़ के साथ-साथ लखीमपुर खीरी के दोषियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करे।

दर्दनाक तरीके से आरोपी ने की रेप हत्या

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव की रहने वाली एक बच्ची 14 अगस्त को दोपहर करीब एक बजे अपने घर से बाहर शौच के लिए खेत गई थी। जहां गांव के ही दो युवकों ने बच्ची के साथ गैंगरेप कर दिया।

आरोपी की हैवानियत यहीं खत्म नहीं हुई, रेप के बाद बच्ची की आंख फोड़ दी गई और फिर जुबान काट दी गई। इसके बाद गले में फंदा डालकर उसे घसीटा गया। फिर घसीटते हुए आरोपी शव को गन्ने में फेंककर मौके पर से फरार हो गया।

बच्ची की उम्र 13 साल की थी और जात से दलित थी। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या और गैंगरेप का केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही NSA के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है।

आजमगढ़ में दलित प्रधान की हत्या

वहीं, शुक्रवार को आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र में बासगांव के दलित प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू राम को घर से बुलाकर आरोपियों ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। इस हत्या पर भी मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि आजमगढ़ के बांसगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या में नृशंस हत्या और एक अन्य की कुचलकर मौत की खबर अति-दुःखद. यूपी में दलितों पर इस प्रकार की हो रही जुल्म-ज्यादती व हत्या आदि से पूर्व की सपा व बीजेपी की वर्तमान सरकार में फिर क्या अन्तर रह गया है?''

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story