Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाथरस गैंगरेप कांड में दो डॉक्टरों को किया टर्मिनेट, रेप की पुष्टि पर रखे थे अपने विचार

हाथरस गैंगरेप कांड में जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में काम कर रहे दो डॉक्टरों को अगले आदेश तक टर्मिनेट कर दिया गया है। जिस पर डॉक्टर का कहना है कि एक डॉक्टर के पेशे से इस मामले में हम अपनी विचार तो रख सकते हैं, फिर ये कार्रवाई क्यों?

डाॅक्टर ने गर्भवती महिला के साथ की छेड़छाड़
X
गर्भवती महिला (प्रतीकात्मक फोटो)

हाथरस गैंगरेप कांड में प्रशासन की कार्रवाई के बाद अब दो डॉक्टरों को अगले आदेश तक उनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई है। इन दोनों डॉक्टरों को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में कार्यरत डॉक्टरों की जगह पर रखा गया था।

डॉ अजीम और डॉ ओबैद जेएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी और ट्रॉमा में कार्यकारी सीएमओ के पद पर कार्य कर रहे थे। जहां एएमयू के वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर के आदेश से इन दोनों डॉक्टरों को टर्मिनेट कर दिया गया।

रेप की पुष्टि पर दी थी अपनी विचार

सूत्रों के मुताबिक, डॉ अजीम ने हाथरस मामले को लेकर हाल ही में कहा था कि अगर 10 से 12 दिन में सैम्पल कलेक्ट किया जाता है तो उसमें रेप की पुष्टि हो पाना मुश्किल है। एक डॉक्टर के पेशे से हम अपनी विचार रख सकते हैं। यह केवल हमनें अपनी विचार रखी थी।

किसी मीडिया को ऐसा बयान नहीं दिया। सिर्फ मीडियाकर्मी ने फोन करके फॉरेंसिक संबंधित कोई राय पूछी थी तो हमनें अपनी विचार को रखा था। इस बीच सोमवार को हाथरस मामले को लेकर सीबीआई की टीम ने भी जेएन मेडिकल कॉलेज में छानबीन की थी।

सीबीआई की टीम ने सात घंटे से अधिक समय तक मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों से पूछताछ की थी। लेकिन सीबीआई की हमलोगों से कोई बात नहीं हुई।

कोरोना संक्रमित छह डॉक्टरों की छुट्टी में दी अपनी ड्यूटी

दोनों डॉक्टरों का कहना है कि उन्हें किस वजह से टर्मिनेट किया गया है, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। डॉक्टरों ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में कार्यरत छह डॉक्टरों के कोरोना संक्रमित होने पर उनको ड्यूटी पर बुलाया गया था।

आज हमें सीएमओ मेडिकल इंचार्ज डॉक्टर एस.ए.एच. जैदी ने लिखित रूप से अवगत कराया कि एएमयू वीसी ने उनको टेलीफोन पर आदेश दिया है कि आज से हम दोनों डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की जाती हैं। हम अपनी नौकरी छोड़ कर यहां कोविड-19 काल में अपनी सेवाएं दी।

डॉक्टरों ने कहा कि किस कारण से हमारी सेवाएं समाप्त की गई हैं, यह हमें बताया जाए? हमने भी वीसी साहब को पत्र लिखा है और वह हमारे सेवाएं के बारे में विचार करेंगे। यहीं हम उनसे उम्मीद करते हैं।

और पढ़ें
Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story