Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ghaziabad Double Murder : घर में घुसकर महिला और ट्यूशन टीचर की हत्या, बच्चों को भी नहीं बख्शा, परिचित ही निकली...

गाजियाबाद के सरस्वती विहार में इस डबल मर्डर की वारदात को महिला की ही एक परिचित ने अपने साथी के साथ मिलकर अंजाम दिया। पुलिस मुठभेड़ के बाद दोनों गिरफ्तार हो चुके हैं। आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। दोनों ने वारदात को अंजाम देने का जो कारण बताया है, उससे आसपास के लोग भी सकते में हैं।

दो वाहन चोरों को पुलिस ने चोरी की बाइक के साथ किया गिरफ्तार
X
चोर गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) से डबल मर्डर Double Murder की एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। यहां एक घर के भीतर एक महिला और ट्यूशन टीचर की हत्या कर दी गई। हमले में ट्यूशन पढ़ने आए तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हैं। गाजियाबाद पुलिस ने वारदात के कुछ घंटों बाद ही आरोपियों को पकड़ लिया। पुलिस की मानें तो इस वारदात को महिला की ही एक परिचित ने अपने साथी के साथ मिलकर अंजाम दिया। पुलिस ने उसके साथी को भी मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। वारदात को लूट के इरादे से अंजाम दिया गया। पुलिस ने आरोपियों के पास से पिस्टल और लूटे हुए आभूषण समेत नकदी व अन्य सामान बरामद कर लिया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गोविंदपुरम के नजदीक स्थित सरस्वती विहार में रात करीब नौ बजे यह वारदात हुई। वारदात के समय 27 वर्षीय डॉली अपने तीन बच्चों गौरी (10), मीनाक्षी (7) और रुद्र (5) और ट्यूशन टीचर अंशु (16) के साथ घर पर मौजूद थी। इसी दौरान हमलावर घर में घुसे और लूट के मकसद से उन पर हमला कर दिया। चाकू और सिलबट्टे से किए गए इस हमले में डॉली और अंशु की मौत हो गई, जबकि तीनों बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। घटनास्थल का मुआयना करते ही पुलिस को स्पष्ट हो गया था कि इस वारदात को लूट के इरादे से अंजाम दिया गया है। पुलिस ने जांच शुरू की और कुछ ही घंटे बाद इस सनसनीखेज डबल मर्डर का खुलासा कर दिया।

महिला की परिचित ने दिया वारदात को अंजाम

पुलिस ने मीडिया को बताया कि इस वारदात को डॉली की परिचित उमा ने अपने साथी सोनू के साथ मिलकर अंजाम दिया। उन्होंने सभी को तमंचा दिखाकर डराया और इसके बाद चाकू और सिलबट्टे से उन पर हमला कर दिया। पुलिस ने उमा के साथ सोनू को भी गिरफ्तार कर लिया है। सोनू ने पुलिस से बचने के लिए फायरिंग भी की, लेकिन फरार नहीं हो सका। पुलिस अब आगे की कार्रवाई कर रही है।

टीचर की मां ने दी थी सूचना

मूलरूप से वृंदावन मथुरा निवासी महेश का परिवार करीब दो महीने पहले ही सरस्वती विहार में शिफ्ट हुआ था। उनके बच्चों को पड़ोस में ही रहने वाली अंशु पढ़ाने आती थी। अंशु की मां वंदना ने पुलिस को बताया कि रात को वह दूध लेने के लिए घर से बाहर निकली थी। उस वक्त देखा कि अंशु बच्चों को ट्यूशन पढ़ा रही है, लेकिन जब दूध लेकर वापस आई तो वहां पर कोई नहीं था। आशंका होने पर जब घर के अंदर पहुंची तो सभी खून से लथपथ मिले। वंदना ने ही पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद सभी को अस्पताल पहुंचाया गया। चिकित्सकों ने यहां डॉली और अंशु को मृत घोषित कर दिया। तीनों बच्चों की हालत अभी भी गंभीर बनी है। इस डबल मर्डर से जहां इलाके में सनसनी है, वहीं मृतकों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।


Next Story