Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री में किया था एक माह पहले मॉक ड्रिल, अब सच में लगी आग तो हुआ लाखों का नुकसान

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार की देर रात रेल डिब्बा कारखाना के शेल शॉप में दक्षिण कोरिया की सिस कंपनी ऑटोमेटेड मशीन के जिग में शेल बनाने का काम चल रहा था। इसी दौरान अचानक मशीन में आग लग गई। कर्मचारियों ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन...

रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री में किया था एक माह पहले मॉक ड्रिल, अब सच में लगी आग तो हुआ लाखों का नुकसान
X

रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री में आग लगने की घटनाएंं कई बार सामने आ चुकी हैं। 

रायबरेली के लालगंज में स्थित आधुनिक रेल डिब्बा कारखाना में शनिवार की देर रात संदिग्ध हालात में आग लग गई। यहां पर काम कर रहे कर्मचारियों ने आग को बुझाने का असफल प्रयास किया। सूचना मिलने पर जब तक दमकल की टीम ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाती, लाखों का सामान जलकर बर्बाद हो गया। ये वही कारखाना है, जहां पर करीब एक माह पहले मॉकड्रिल कर यह जानने का प्रयास किया गया था कि आग लगने पर कितनी जल्दी हालात पर पूरी तरह से काबू पा लिया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार की देर रात रेल डिब्बा कारखाना के शेल शॉप में दक्षिण कोरिया की सिस कंपनी ऑटोमेटेड मशीन के जिग में शेल बनाने का काम चल रहा था। इसी दौरान अचानक मशीन में आग लग गई। कर्मचारियों ने आग को बुझाने का प्रयास किया, लेकिन तेज लपटों के आगे बेबस हो गए। घटना की सूचना तुरंत जिला प्रशासन और दमकल विभाग को दी गई। मौके पर पहुंची दमकल की टीम ने आग पर काबू पा लिया, लेकिन लाखों रुपये का नुकसान होने का अंदेशा जताया गया है।

एक माह पहले की थी मॉकड्रिल

आधुनिक रेलडिब्बा कारखाना लालगंज में एक फरवरी को भी संदिग्ध हालात में आग लग गई थी। शेलशाप के पास खड़ी घास में लगी आग ने स्क्रैप को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग भड़कती देख लोगों में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाडि़यों से लेकर स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस तक मौके पर पहुंच गईं थीं। पहले इसे हादसा माना गया, लेकिन बाद में जिला प्रशासन के प्रवक्ता ने स्पष्ट किया था कि यह मॉकड्रिल थी, जो कि रेल कारखाना में आग से बचाव के सुरक्षा उपायों की समीक्षा के लिए की गई थी।

Next Story