Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rakesh Tikait: उदयपुर हत्याकांड पर कुछ ऐसा बोल गए राकेश टिकैत... ट्विटर पर हुए ट्रोल

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल की निर्मम हत्या को लेकर भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने इस वारदात की निंदा की है तो वहीं कुछ ऐसा बोल गए, जिन्हें ट्विटर यूजर्स गुस्से में आ गए। पढ़िये यह रिपोर्ट...

Rakesh Tikait: उदयपुर हत्याकांड पर कुछ ऐसा बोल गए राकेश टिकैत... ट्विटर पर हुए ट्रोल
X

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत। 

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने राजस्थान (Rajasthan) के उदयपुर (Udaipur) में कन्हैया लाल की निर्मम हत्या (Kanhaiya Lal Murder) पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने नाम लिए बिना इसके लिए बीजेपी (BJP) को जिम्मेदार ठहरा दिया है। खास बात है कि जिस हत्याकांड को आतंकी वारदात बताया जा रहा है, उसे राकेश टिकैत ने इसे छोटा मामला समझा है। यह हम नहीं बल्कि ट्विटर यूजर्स (Twitter Users) बोल रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राकेश टिकैत ने आज सुबह ट्वीट किया। इसमें उन्होंने लिखा, 'राजस्थान के उदयपुर में हुई निर्मम हत्या की भाकियू घोर निंदा करती है। लगातार घृणा, नफरत और बदले की भावना से समाज में विघटन हो रहा है। धर्मांधता की इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती। अमन-चैन के हर संभव प्रयास होने चाहिए।'

राकेश टिकैत का यह ट्वीट तेजी से वायरल होने लगा। ज्यादातर सोशल मीडिया यूजर्स ट्वीट की टाइमिंग को लेकर सवाल उठाने लगे। नेशल फर्स्ट नामक ट्विटर अकाउंटर से राकेश टिकैत को रिप्लाई देते हुए लिखा, 'ये हमारा दुर्भाग्य है कि तुम्हारे जैसे लोग एक हिंदू की हत्या पर बोल नहीं सकते और 2 दिन लगे 2 शब्द लिखने में! यही हिंदुओं के पतन का कारण है!'


जेके बाजपेयी नामक यूजर ने लिखा, 'औरंगजेब के कब्र पर जाने वाले और टीवी चैनल पर राममंदिर की तस्वीर दिखाने पर आपा खोने वाले... उदयपुर कन्हैयालाल की हत्या पर ज्ञान दे रहे हैं।' सुधीर चौधरी ने लिखा, 'आप कब जा रहे हो #उदयपुर पीड़ित के परिवार से मिलने? और सरकार से मांग रखने कि पीड़ित के परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी मिले?'


दावेश सिंह ने लिखा, 'आप को ऐसे ही राजनीतिक किसान नहीं कहा जाता है। ये घटना बीजेपी शासित राज्य की नहीं थी, ऊपर से एक हिंदू मारा गया, इसलिए आप के मुख में जमी दही को फटने में तीन दिन लग गए।' बता दें कि इसी प्रकार अन्य यूजर्स भी ऐसी ही प्रतिक्रियाएं देकर राकेश टिकैत पर हमला बोल रहे हैं।

और पढ़ें
Next Story