Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यूपी प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह राज्यपाल आनंदी बेन से मिले, कैबिनेट में बदलाव पर बोले- खाली पदों को भरा जाएगा, लेकिन...

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से की मुलाकात। भाजपा संगठन के बीच खींचतान और यूपी कैबिनेट में फेरबदल को लेकर चल रही अटकलों के बीच हुई इस मुलाकात के मायने इस रिपोर्ट से समझिये...

यूपी प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह राज्यपाल आनंदी बेन से मिले, कैबिनेट में बदलाव पर बोले- खाली पदों को भरा जाएगा, लेकिन...
X

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह लखनऊ में मीडिया से बात करते हुए। 

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे भाजपा संगठन के बीच खींचतान और यूपी कैबिनेट में फेरबदल को लेकर चल रही अटकलों के बीच पार्टी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने रविवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से भी मिले। उन्होंने इसे शिष्टाचार मुलाकात बताते हुए कैबिनेट में बदलाव या विस्तार की अटकलों को सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही विपक्ष द्वारा लगाए जा रहे भाजपा संगठन के भीतर खींचतान के आरोपों को भी बेबुनियाद बताया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने कहा कि प्रदेश में संगठन और सरकार अच्छी तरह चल रहे हैं। प्रदेश मंत्रीमंडल में खाली पड़े पदों को भरा जाएगा, लेकिन इन सभी पदों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उचित समय पर निर्णय लेंगे।

संगठन में खींचतान से संबंधित सवाल के जवाब में राधा मोहन ने कहा कि कुछ लोग अपने दिमाग में ख्यालों की खेती करें तो क्या किया जा सकता है। यूपी सरकार और संगठन सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं। राज्यपाल से मुलाकात के संबंध में कहा कि उनसे भेंट औपचारिक थी। उन्होंने कहा, 'राज्यपाल पुरानी परिचित हैं और आज तक मिल नहीं पाया था। आज उसी औपचारिकता को लेकर उनसे मुलाकात की।'

बता दें कि कुछ दिन पहले ही भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने तीन दिन का लखनऊ दौरा कर संगठन और सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ अलग-अलग मुलाकात की थी। उनके दौरे के बाद से अटकलें शुरू हुईं कि जल्द ही भाजपा संगठन और यूपी कैबिनेट में फेरबदल हो सकता है। हालांकि लखनऊ से जाने से पहले बीएल संतोष ने ट्वीट कर योगी सरकार के कामकाज की तारीफ करते हुए तमाम अटकलों पर विराम लगाने का प्रयास किया था। बावजूद इसके इन पर पूरी तरह से लगाम नहीं लग पाई है।

और पढ़ें
Next Story