Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Badrinath Darshan: भारी बर्फबारी में CM योगी ने त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ किये बंद्रीनाथ के दर्शन, दिखा ऐसा मनमोहक नजारा

Badrinath Darshan: उत्तर भारत समेत कई पहाड़ी राज्यों में भी मौसम ने अचानक करवट ली है। जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल में हुई बर्फबारी और यूपी, दिल्ली, राजस्थान समेत कई राज्यों में रविवार को हुई बारिश के कारण तापमान नीचे गिरा। ताजा पश्चिमी विक्षोभ और तेज चल रही हवाओं ने सिहरन पैदा कर दी हैं।

Badrinath Darshan: भारी बर्फबारी में योगी संग त्रिवेंद्र सिंह रावत बद्रीनाथ के दर्शन करने पहुंचे, दिखा मनमोहक नजारा
X

भारी बर्फबारी में योगी संग त्रिवेंद्र सिंह रावत बद्रीनाथ के दर्शन करने पहुंचे

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ताजा बर्फबारी के बीच चमोली ज़िले में स्थित बद्रीनाथ पहुंचे। यहां बद्रीनाथ के दर्शन के लिए दोनों मुख्यमंत्री आये है। इस दौरान मौसम की पहली बर्फबारी भी हुई वहीं दोनों प्रदेश के मुख्यमंत्री बर्फबारी में भी नहीं रूके और चलते रहे। गौरतलब है कि उत्तर भारत समेत कई पहाड़ी राज्यों में भी मौसम ने अचानक करवट ली है।

जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल में हुई बर्फबारी और यूपी, दिल्ली, राजस्थान समेत कई राज्यों में रविवार को हुई बारिश के कारण तापमान नीचे गिरा। ताजा पश्चिमी विक्षोभ और तेज चल रही हवाओं ने सिहरन पैदा कर दी हैं। वहीं इससे पहले, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बीते दिन केदारनाथ पहुंचकर बाबा केदार के दर्शन किये थे। दोनों मुख्यमंत्री धाम में ही रात्रि प्रवास करने के बाद आज बद्रीनाथ के दर्शन करने के लिए पहुंचे है।

आपकों बता दें कि ठंड और बर्फबारी के बीच सोमवार को उत्तराखंड में उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र स्थित केदारनाथ मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद हो गए। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के उनके समकक्ष त्रिवेंद्र सिंह रावत भी उपस्थित रहे। केदारनाथ में कल रात से ही मौसम बदल गया था और बूंदाबांदी के साथ ही बर्फ गिरनी शुरू हो गयी थी। आठ बजकर 30 मिनट पर कपाट बंद होने से पहले सोमवार तड़के मंदिर में परंपरागत तरीके से पूजा की गई। इस पूजा में केदारनाथ मंदिर के पुजारी, परंपरागत तीर्थ पुरोहित, स्थानीय प्रशासन और चारधाम देवस्थान बोर्ड के पदाधिकारियों के साथ ही योगी और रावत भी शामिल हुए।

Next Story