Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PNB की महिला बैंक अफसर ने दी जान, मौके से मिले सुसाइड नोट में IPS ऑफिसर और मंगेतर समेत 3 को ठहराया जिम्मेदार

पीएनबी बैंक की मृतक अफसर श्रद्धा गुप्ता 5 साल से अयोध्या में कार्य करती आ रही थीं। श्रद्धा गुप्ता यूपी की राजधानी लखनऊ की स्थाई निवासी थी। श्रद्धा गुप्ता ने सुइसाइड नोट में आईपीएस आशीष तिवारी के साथ ही अयोध्या पुलिस विभाग में कार्यरत अनिल रावत और युवक विवेक गुप्ता का नाम भी अंकित किया है।

Ayodhya lady bank officer in suicide note held three including IPS officer responsible for her death UP Crime News
X

प्रतीकात्मक तस्वीर 

यूपी (Uttar Pradesh) के अयोध्या में पंजाब नेशनल बैंक (punjab national bank) रीजनल कार्यालय में अधिकारी रैंक पर तैनात श्रद्धा गुप्ता ने किराए के घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक श्रद्धा गुप्ता ने जान देने से पूर्व मौके पर एक सुसाइड नोट भी छोड़ा। जिसमें उसने तीन लोगों को अपनी मौत के लिए कथित तौर पर जिम्मेदार ठहराया है। जिसमे एसएसएफ हेड लखनऊ आईपीएस आशीष तिवारी का नाम भी अंकित है। सुइसाइड नोट में आरोपितों के खिलाफ शोषण का आरोप लगाया गया है। लखनऊ निवासी पीएनबी बैंक की मृतक अधिकारी श्रद्धा गुप्ता पांच साल से अयोध्या में कार्यरत थीं। सुइसाइड नोट में आईपीएस आशीष तिवारी के अलावा पुलिस विभाग, अयोध्या में कार्यरत अनिल रावत और युवक विवेक गुप्ता का नाम भी अंकित किया है।

अखिलेश यादव ने मामले में उठाई उच्च स्तरीय जांच की मांग

मामले पर ट्वीट कर सपा अध्यक्ष अखिलेश ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जैसे अयोध्या में पीएमबी की महिला कर्मचारी की आत्महत्या मामले में बरामद सुसाइड नोट में पुलिसकर्मियों को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया गया है। उससे यूपी की बदहाल कानून-व्यवस्था का कड़वा सत्य सामने आता है। इसमें सीधे एक आईपीएस अधिकारी तक का नाम शमिल होना बेहद सनसनीखेज मामला है। पूरे मामले की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच होनी चाहिए।

ऐसे हुआ परिजनों को शक

कोतवाली नगर के अलीगढ़ थाना इलाके स्थित खवासपुरा की पीएनबी शाखा की अधिकारी श्रद्धा गुप्ता को शुक्रवार की रात परिवार के लोगों ने कॉल की। पर श्रद्धा का फोन नहीं उठ सका। शनिवार की सुबह में भी श्रद्धा का फोन नहीं उठ सका। इस पर परिवार के लोगों ने मालिक को उसका हाल जानने भेजा।

मकान मालिक को गेट अंदर से मिला बंद

मकान मालिक ने उसके कमरे पर पहुंचा तो गेट अंदर से बंद था। काफी खटखटाया पर गेट नहीं खुला। फिर मकान मालिक ने खिडक़ी से झांककर देखा तो श्रद्धा फांसी पर लटकी हुई नजर आई। फिर उसने मामले की जानकारी उसके परिजनों व पुलिस को दी।

मौके से बरामद हुआ सुइसाइड नोट

मृतका के निकट से एक पेज का सुइसाइड नोट अपने माता पिता के नाम लिखा बरामद हुआ है। सुइसाइड नोट में विवेक गुप्ता अनिल रावत व आईपीएस आशीष तिवारी को उसने अपन मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। श्रद्धा के भाई रितेश गुप्ता ने बताया कि उसकी बहन ने बीबीडी से बीटेक किया था। जो एक जिंदा दिल लडक़ी थी। वह खुद अपनी जान नहीं दे सकती थी। जिन तीन आरोपियों का नाम सामने आया है। इन लोगों ने उसके साथ क्या गलत किया, इसकी जांच-पड़ताल होनी चाहिए।

आरोपियों के नाम की जांच शुरू

एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया कि कमरे का गेट तोडक़र देखा तो भीतर महिला अधिकारी का शव दुपट्टे से लटका मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आने पर मामले में आगे की कार्रवाई शुरू होगी। उन्होंने बताया कि मौकेे से मिले सुइसाइड नोट की जांच कराई जाएगी। जांच के बाद जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Next Story