Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में घरों के बाहर नुकीली कीलें लगाई गईं तो अखिलेश ने कही ये बड़ी बात...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में शुक्रवार को कुछ घरों के बाहर नुकीली कीलें लगी दिखाई दीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कई जगह लोग पोस्टर लिए खड़े थे, जिन पर 'नो एंट्री फॉर बीजेपी' जैसे संदेश लिखे थे। ये सभी लोग एक राजनीतिक दल के कार्यकर्ता थे, जिन्होंने दिल्ली बॉर्डर पर लगाई गई कीलों के विरोध में इस तरह से अपना रोष जाहिर किया। इनका कहना था कि सरकार को कीलें लगाकर किसानों का रास्ता रोकने की बजाय उनसे बातचीत करनी चाहिए।

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में घरों के बाहर नुकीली कीलें लगाई गईं तो अखिलेश ने कही ये बड़ी बात...
X

वाराणसी में घरों के बाहर नुकीली कीलें लगाकर इस तरह से विरोध दर्ज कराया गया। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से ऐसी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें घरों के बाहर नुकीली कीलें लगी दिखाई दे रही हैं। तस्वीरों में एक पोस्टर भी नजर आ रहा है, जिसमें 'नो एंट्री फॉर बीजेपी' लिखा है। केवल तस्वीरे देखकर विरोध करने वालों के बारे में पता लगाना मुश्किल है, लिहाजा लोग ये भी सर्च करने का प्रयास कर रहे हैं कि आखिर ये लोग कौन हैं।

दरअसल, ये वाराणसी में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं हैं, जिन्होंने कृषि कानूनों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए घरों के मुख्य दरवाजों पर ही नुकीली कीलें लगा दी हैं। सपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जिस तरह से दिल्ली में केंद्र सरकार ने किसानों से बात करने की बजाए उनके दिल्ली आने वाले रास्तों को नुकीली कीलें लगाकर बंद किया है, उसी तरह हमने भी भाजपा के लिए अपने घरों का रास्ता बंद कर दिया है। सपा नेताओं ने कहा कि अगर केंद्र सरकार अपनी जिद पर अड़ी रही तो आने वाले समय में देश की जनता पूरी तरह से भाजपा के लिए अपने दरवाजे बंद कर लेगी।

सपा की सरकार आने पर बनाएंगे स्मारक

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने शुक्रवार को बिना किसी का नाम लिए कृषि कानूनों को लेकर सरकार पर तंज कसा। उन्होंने लिखा, बड़े भोले बन के वे पूछ रहे हैं, इस में क्या है काला, नीयत जिनकी काली है, सीरत जिनकी काली है। अखिलेश यादव ने इससे पूर्व भी एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि सरकार में आने के बाद सपा किसान आंदोलन के शहीदों की याद में स्मारक बनवाएगी व किसान सम्मान पुरस्कार की भी घोषणा करेगी।

Next Story