Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Jewar International Airport शिलान्यास के बाद UP बना देश का सबसे ज्यादा एयरपोर्ट वाला राज्य, देखें लिस्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेवर में 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे' की आधारशिला रखी। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मौजूद रहे।

Jewar International Airport शिलान्यास के बाद UP बना देश का सबसे ज्यादा एयरपोर्ट वाला राज्य, देखें लिस्ट
X

पिछले काफी समय से चर्चाओं में चल रहे देश के चौथे सबसे बड़े जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) का शिलान्यास गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। जेवर में स्थित नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास के बाद उत्तर प्रदेश देश में सबसे ज्यादा इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बन गया है। यहां पर 9 एयरपोर्ट में से 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। प्रदेश सरकार ने यूपी को एयर कनेक्टिविटी बनाने के लिए यहां और भी एयरपोर्ट बनाने का लक्ष्य रख है। वहीं बता दें कि इससे पहले देश में तमिलनाडु और केरल ऐसे राज्य थे। जहां सबसे ज्यादा इंटरनेशनल एयरपोर्ट थे। इन दोनों ही राज्यों में 4-4 इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। अब इन दोनों ही राज्यों से सबसे ज्यादा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का तमका छिनकर उत्तर प्रदेश के पास पहुंच गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने जेवर में 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे' (Noida International Airport) की आधारशिला रखी। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मौजूद रहे। प्रधानमंत्री ने एयरपोर्ट का शिलान्यास करने के साथ ही यहां पर होने वाले हजारों करोड़ रुपये के निवेश की भी घोषणा की। उन्होंने उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का अवाहन किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने पूर्व की केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा।

ये है उत्तर प्रदेश के नेशनल और इंटरनेशनल हवाईअड्डे

  • लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा वाराणसी शहर से लगभग 25 किमी पश्चिम में स्थित है। इसे अक्टूबर 2012 में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का दर्जा मिला। यहां से दिल्ली, काठमांडू, खजुराहो, लखनऊ, मुंबई, बैंकॉक, चेन्नई और कोलंबो के लिए उड़ान सेवाएं उपलब्ध हैं। इसकी उड़ान पट्टी की लम्बाई 7200 फुट है।
  • चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, लखनऊ 1986 में बनकर तैयार हुआ था। यहां से हर साल 50 लाख से अधिक यात्री यात्रा करते हैं। यहां से प्रतिदिन 160 से अधिक विमान संचालित होते हैं। इसकी उड़ान पट्टी की लम्बाई 7200 फीट है।
  • कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट 260 करोड़ की लागत से 589 एकड़ में बना है। इसका रनवे हर घंटे आठ उड़ानें संभाल सकता है। यहां से श्रीलंका, जापान, चीन, ताइवान, दक्षिण कोरिया, थाईलैंड, सिंगापुर और वियतनाम के लिए सीधी उड़ानें मिलती है।
  • कानपुर का चकेरी में एक हवाई अड्डा है। यह शहर से 17 किमी दूर स्थित है। फिलहाल यहां से दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई, बेंगलुरु और गोवा के लिए घरेलु उड़ानें उपलब्ध हैं। इसे एयरफोर्स के लिए बनाया गया है।
  • आगरा में एक हवाई अड्डा भी है। यह भारतीय नौसेना के स्वामित्व वाला एक सैन्य और नागरिक हवाई अड्डा है। इसका रनवे करीब 9000 फीट लंबा है। यहां से घरेलू उड़ानें उपलब्ध हैं।
  • दिल्ली से सटे हिंडन एयरपोर्ट गाजियाबाद में स्थित है। यह हिंडन वायु सेना स्टेशन पर भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा संचालित है। यह 22050 वर्गमीटर भूमि पर बना है। इसके टर्मिनल भवन में प्रति घंटे 300 यात्रियों की सेवा करने की क्षमता है।
  • महायोगी गोरखनाथ हवाई अड्डा गोरखपुर में स्थित है। यह एक सैन्य हवाई अड्डा है। यह शहर से पांच किलोमीटर दूर है। यहां से घरेलू उड़ानें उपलब्ध हैं। 22.5 करोड़ की लागत से बने इसके टर्मिनल का कुल क्षेत्रफल 23500 वर्ग फुट है।
  • बमरौली हवाई अड्डा प्रयागराज में है। यह शहर से 12 किमी दूर है। यहां भी देश के कई राज्यों के लिए घरेलू उड़ानें उपलब्ध हैं। इसे 1919 साल में बनाया गया था। 1942 तक इस एयरपोर्ट से लंदन के लिए सीधी उड़ानें थीं।
Next Story