Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Udaipur Killing: गहलोत कैबिनेट ने दर्जी कन्हैया लाल के बेटों को सरकारी नौकरी देने का फैसला लिया, सीएम ने ट्वीट कर कही ये बात

कन्हैयालाल के बेटों को राजस्थान कैबिनेट (Rajasthan cabinet) ने बुधवार को सरकारी नौकरी देने का फैसला किया है।

Udaipur Killing: गहलोत कैबिनेट ने दर्जी कन्हैया लाल के बेटों को सरकारी नौकरी देने का फैसला लिया, सीएम ने ट्वीट कर कही ये बात
X

उदयपुर हत्याकांड (Udaipur Killing) में मारे गए कन्हैयालाल के बेटों को राजस्थान कैबिनेट (Rajasthan cabinet) ने बुधवार को सरकारी नौकरी देने का फैसला किया है। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Rajasthan CM Ashok Gehlot) ने बुधवार को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, कैबिनेट ने कन्हैयालाल के बेटे यश तेली और तरुण तेली (Yash Teli and Tarun Teli) को सरकारी सेवा (government service) में नियुक्त करने का निर्णय लिया है।

सीएम ने कहा कि यश और तरुण को राजस्थान अधीनस्थ कार्यालय लिपिक सेवा (संशोधन) नियम, 2008 और 2009 के नियम 6सी के तहत नियुक्ति के नियमों में छूट दी गई है। रिपोर्ट के अनुसार, गहलोत सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि राज्य सरकार ने परिवार की मदद करने का फैसला किया क्योंकि, कन्हैयालाल परिवार का एकमात्र कमाने वाला था। वहीं महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि कैबिनेट ने कन्हैया लाल तेली के पुत्र यश तेली और तरुण तेली को सरकारी सेवा में नियुक्त करने का निर्णय लिया है।

28 जून को की गई थी कन्हैयालाल की हत्या

गौरतलब है कि पिछले महीने 28 जून को दर्जी कन्हैयालाल की दो लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। कन्हैयालाल ने सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा के द्वारा पैगंबर मोहम्मद को लेकर दिए गए बयान का समर्थन करते हुए पोस्ट किया था। जिस कारण दर्जी की हत्या की गई। हत्यकांड के दो दिन बाद राज्य के सीएम अशोक गहलोत ने कन्हैयालाल के घर जाकर पीड़ित परिजन से मुलाकात की थी और आर्थिक सहायता के तौर पर 50 लाख रुपये का चेक सौंपा था। इसके अलावा सीएम ने कन्हैया के दोनों बेटों को सरकारी नौकरी देने का भी वादा किया था। बता दें कि हत्यकांड मामले की जांच एनआईए कर रही है।

और पढ़ें
Next Story