Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस की जीप की आवाज सुन दो महिलाओं को दुकान के अंदर ही बंद कर घर भाग गया दुकानदार, जानें फिर क्या हुआ?

उक्‍त दुकानदार ने सरकारी आदेश के बावजूद दुकान खोली थी और जब पुलिस की जीप उधर आई तो वह आननफानन में दुकान बंद कर घर चला गया। दुकानदार के अनुसार उससे यह अनजाने में हुआ।

पुलिस की जीप की आवाज सुन दो महिलाओं को दुकान के अंदर ही बंद कर घर भाग गया दुकानदार, जानें फिर क्या हुआ?
X

दो महिलाओं को दुकान के अंदर ही बंद कर घर भागा दुकानदार

धौलपुर। पूरे राजस्थान में इस समय अनुशासन पखवाड़ा के तहत पाबंदियां लगाई हुई हैं। हालांकि यहां पुलिस की सख्ती के चलते स्थिति कंट्रोल में है मगर फिर भी कुछ लोग घर से बाहर निकलने और दुकानें खोलने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला राजस्थान के धौलपुर में सामने आया। यहां जिले में कपड़े की एक दुकान में बंद हो गईं दो महिलाओं को बाद में पुलिस ने निकाला। यह घटना उस समय हुई जबकि पुलिस की जीप को देखकर दुकानदार जल्‍दबादी में दुकान बंद कर अपने घर चला गया है। राज्‍य में जन अनुशासन पखवाड़ा चल रहा है जिसके तहत जरूरी सामान के अलावा सारी दुकानें बंद हैं। उक्‍त दुकानदार ने सरकारी आदेश के बावजूद दुकान खोली थी और जब पुलिस की जीप उधर आई तो वह आननफानन में दुकान बंद कर घर चला गया। दुकानदार के अनुसार उससे यह अनजाने में हुआ।

रोने और चिल्लाने की आवाज सुन शटर तोड़कर निकाला

धौलपुर के पुलिस अधीक्षक केसर सिंह वहां से गुजर रहे थे तभी किसी ने उन्‍हें दुकान के भीतर से रोने एवं चिल्‍लाने की आवाज आने की बात बताई। इस पर दुकान का शटर तोड़कर महिलाओं (मां-बेटी) को निकाला गया। सिंह ने बताया जब उन्हें बचाया गया तो उनकी हालत खराब थी। दुकानदार को बुलाया गया और उसके खिलाफ महामारी रोग अधिनियम और भादंसं की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया। दुकानदार का कहना है कि उसने जल्दी में दुकान बंद कर दी और भूल गया कि दुकान के अंदर ग्राहक थे। संपर्क करने पर दुकानदार बनवारी ने कहा कि घर में शादी ब्‍याह के कार्यक्रम के कारण वह आने की स्थिति में नहीं था। हालांकि शटर तोड़ दिए जाने के बाद वह वहां आ गया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जन अनुशासन पखवाड़े के बावजूद खुले में भगवत कथा आयोजन के एक अन्य मामले में पूर्व विधायक सुखराम कोली सहित आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

Next Story