Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सौतेली मां ने लड़की को 50 हजार में बेचा, तीन दरिंदे दो महीने तक करते रहे गैंगरेप, गर्भवती हुई तो मामला खुला

गुजरात के सूरत की एक युवती को सौतेली मां ने न सिर्फ पचास हजार रुपए में जोधपुर में बेच दिया, बल्कि तीन जनों ने सामूहिक बलात्कार कर गर्भवती किया। जांच के लिए अस्पताल ले जाने के दौरान युवती चंगुल से छूटकर अजमेर जा पहुंची और बिना नम्बर की एफआइआर दर्ज कराई।

सौतेली मां ने लड़की को 50 हजार में बेचा, तीन दरिंदे दो महीने तक करते रहे गैंगरेप, गर्भवती हुई तो मामला खुला
X

सौतेली मां ने लड़की को 50 हजार में बेचा

जोधपुर से एक दिल दहला देने और रिश्तों को तार-तार कर देने वाली वारदात सामने आई है। यहां एक सौतेली मां ने लड़की को महज 50 पचास हजार में दरिंदों के हवाले कर दिया। इन दरिंदों ने लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार कर गर्भवती कर दिया। दरअसल गुजरात के सूरत की एक युवती को सौतेली मां ने न सिर्फ पचास हजार रुपए में जोधपुर में बेच दिया, बल्कि तीन जनों ने सामूहिक बलात्कार कर गर्भवती किया। जांच के लिए अस्पताल ले जाने के दौरान युवती चंगुल से छूटकर अजमेर जा पहुंची और बिना नम्बर की एफआइआर दर्ज कराई। अब जोधपुर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

जान से मारने की देते थे धमकियां

पुलिस के अनुसार सूरत की 21 वर्षीय एक युवती को दो माह पूर्व 50 हजार रुपए में बेच दिया गया था। एक व्यक्ति ने जोधपुर में उससे शादी की। युवती का आरोप है कि जोधपुर में यह तीनों व्यक्ति दो महीने तक उसके साथ बलात्कार करते रहे। विरोध करने पर चाकू से मारने की धमकियां देते और मारपीट भी करते थे। इनकी मां भी सहयोग करती थी। विरोध करने पर उलटा युवती से मारपीट करती थी। बलात्कार से वह गर्भवती हो गई तो अस्पताल में जांच कराने भी ले जाया गया। गत दिनों उसे अस्पताल ले जा रहे थे। तब रास्ते में मौका पाकर वह भाग गई थी। जैसे-तैसे रोडवेज बस स्टैण्ड पहुंची और भीख मांगकर रुपए एकत्रित किए। फिर वह बस से अजमेर जा पहुंची, जहां ऑटो चालक व उसकी पत्नी ने आश्रय दिया और सार-संभाल की।

आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज, जांच जारी

उधर, आरोपी तलाश करते हुए अजमेर तक पहुंच गए, लेकिन वह पकड़ी नहीं गई। फिर उसने अजमेर के एक पुलिस स्टेशन में तीनों व्यक्तियों पर सामूहिक बलात्कार व मारपीट और इनकी मां पर मारपीट करने की बिना नम्बर की एफआइआर दर्ज कराई। जिसे जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट भेज दिया गया। वहां से संबंधित थाने भेजकर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पीडि़ता के बयान दर्ज कर मेडिकल कराया गया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।

Next Story