Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में इस साल मॉनसून के दौरान सामान्य बारिश दर्ज, जानिए कहां कितने बरसे मेघा

राजस्थान में इस साल मानसून के दौरान सामान्य बारिश दर्ज की गई है। राज्य में अब तक 33 जिलों में से 17 जिलों में सामान्य बारिश दर्ज की गई है।

राजस्थान में इस साल मॉनसून के दौरान सामान्य बारिश दर्ज, जानिए कहां कितने बरसे मेघा
X
राजस्थान मौसम बारिश

जयपुर। राजस्थान में इस साल मानसून के दौरान सामान्य बारिश दर्ज की गई है। राज्य में अब तक 33 जिलों में से 17 जिलों में सामान्य बारिश दर्ज की गई है। राज्य के जल संसाधन विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार पूरे राज्य में एक जून से पांच सितंबर तक 474.37 मिमी बारिश दर्ज की गई जो औसत बारिश (463.67 मिमी) से 2.30 प्रतिशत अधिक है। पिछले साल इस अवधि में औसत से 6.94 प्रतिशत अधिक बारिश हुई थी। राज्य के 17 जिलों में सामान्य बारिश (19 प्रतिशत से -19 प्रतिशत) दर्ज की गई वहीं नौ जिलों में अधिक बारिश (20 प्रतिशत से 59 प्रतिशत), और छह जिलों में कम बारिश (-20 प्रतिशत से -59 प्रतिशत) जबकि एक जिले में असामान्य बारिश (60 प्रतिशत या अधिक) दर्ज की गई। पश्चिमी राजस्थान में जैसलमेर जिले में, जोकि मुख्य रूप से एक रेगिस्तानी क्षेत्र है, इस मौसम की सबसे अधिक बारिश हुई है जबकि पड़ोसी जिले गंगानगर में इस वर्ष 31 प्रतिशत की कमी के साथ सबसे कम बारिश दर्ज की गई है।

जैसलमेर में असामान्य बारिश हुई

जैसलमेर एकमात्र ऐसा जिला है जहां इस वर्ष असामान्य बारिश हुई है। यहां हुई 272.83 मिमी बारिश औसत वर्षा की तुलना में 87.9 प्रतिशत अधिक है। जिले के रामगढ़ सहित कुछ इलाके पिछले दो दिनों से बाढ जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं और कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। जोधपुर संभाग को छोड़कर जहां अधिक बारिश दर्ज की गई है शेष छह संभागों अजमेर, कोटा, जयपुर, बीकानेर, उदयपुर और भरतपुर में सामान्य बारिश दर्ज की गई है। बांसवाड़ा, बाड़मेर, चूरू, डूंगरपुर, जालौर, जोधपुर, नागौर, राजसमंद और उदयपुर में अधिक बारिश दर्ज की गई है जबकि अलवर, बूंदी, धौलपुर, गंगानगर, कोटा और टोंक में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है। अजमेर, बांरा, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चित्तौड़गढ़, दौसा, हनुमानगढ़, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, पाली, प्रतापगढ़, सवाईमाधोपुर, सीकर और सिरोही में सामान्य बारिश दर्ज की गई है। इस वर्ष राज्य में एक भी जिला ऐसा नहीं है जहां बहुत कम (औसत से 60 प्रतिशत या उससे कम) बारिश हुई हो।

वहीं दूसरी ओर राज्य के 742 बांधों में से 119 बांध पूरी तरह भर गये है 390 बांध आंशिक रूप से भरे है और 223 बांध अभी भी खाली है। 742 बांधों में से 22 बड़े बांध 83.84 प्रतिशत भरे हुए हैं।

Next Story