Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Mausam Ki Jankari : राजस्थान में फिर गिरा तापमान, बारिश और ओलावृष्टि को लेकर अलर्ट

राजस्थान में कोहरे व शीतलहर ने भी सर्दी का अहसास बढ़ा दिया। रविवार की सुबह तो हालात ये थे कि 50 मीटर पर भी देखना मुश्किल हो गया। ओस से फसलों से लेकर सड़कें तक तरबतर रही। हालांकि दिन चढ़ने के साथ खिली धूप से कोहरा छंटना शुरू हो गया।

Rajasthan Mausam ki Jankari : राजस्थान में फिर गिरा तापमान, बारिश व ओलावृष्टि को लेकर अलर्ट जारी
X
राजस्थान मौसम की जानकारी

राजस्थान में ठंड के सितम ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया है। प्रदेश में तापमान में एक बार फिर से गिरावट दर्ज की गई है। खासकर शेखावाटी इलाकों में कड़ाके की ठंड के कारण लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। फतेहपुर के कृषि अनुसंधान केंद्र में तापमान करीब दो डिग्री की गिरावट के साथ 6 डिग्री दर्ज हुआ। वहीं, कोहरे व शीतलहर ने भी सर्दी का अहसास बढ़ा दिया। रविवार की सुबह तो हालात ये थे कि 50 मीटर पर भी देखना मुश्किल हो गया। ओस से फसलों से लेकर सड़कें तक तरबतर रही। हालांकि दिन चढ़ने के साथ खिली धूप से कोहरा छंटना शुरू हो गया। लेकिन, सर्द हवाओं व बार बार घिर रहे बादलों से अंचल में सर्दी का असर अब भी कायम है। सर्दी से बचने के लिए लोग गर्म कपड़ों के साथ आग व हीटर का सहारा लेते दिखाई दे रहे हैं।

इन जिलों में बरसात को लेकर जारी किया अलर्ट

इधर, मौसम के बदलते मिजाज के बीच स्काईमेट वेदर रिपोर्ट में राजस्थान के 9 जिलों में बरसात व कहीं कहीं ओलावृष्टि का अलर्ट जारी किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के कई इलाकों में बरसात का दौर जारी रहेगा। 5 जनवरी तक सीकर, जयपुर, सवाई माधोपुर, भरतपुर, दौसा, कोटा, भीलवाड़ा, चित्तौडगढ़़, बूंदी समेत पूर्वी जिलों में बारिश की गतिविधियां जारी रहेंगी। गंगानगर, हनुमानगढ़ तथा झुंझुनू में भी हल्की बारिश देखने को मिल सकती है।

इसी के साथ कई क्षेत्रों में ओले भी गिरने की आशंका है। 6 जनवरी से बारिश की गतिविधियों में काफी कमी आ जाएगी। हालांकि उत्तर-पूर्वी हिस्सों में 6 जनवरी को भी छिटपुट वर्षा या गरज के साथ बूँदाबाँदी की संभावना बनी रहेगी। दूसरी तरफ जैसलमर, जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर समेत राजस्थान के पश्चिमी और दक्षिणी-पश्चिमी जिलों में इस सप्ताह यानि 3 से 9 जनवरी के बीच मौसम मुख्यत: शुष्क ही बने रहने की संभावना है। राजस्थान में बदले हुए मौसम के चलते पिछले कुछ दिनों से चल रही शीतलहर अब समाप्त हो गई है तथा न्यूनतम तापमान में व्यापक वृद्धि दर्ज की गई है।

Next Story