Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान सरकार लॉकडाउन में दी गई छूट का दायरा करेगी कम, आवाजाही पर पूरी तरह से लगेगी रोक, अब ऐसे बरती जाएगी सख्ती

माना जा रहा है कि जिन जिलों में कोरोना की मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं उन जिलों में और सख्ती बरती जाएगी। इसे लेकर सरकार में मंथन हो चुका है। कहा सूत्रों की माने तो सरकार लॉकडाउन में दी गई छूट का दायरा कम करने जा रही है।

राजस्थान सरकार लॉकडाउन में दी गई छूट का दायरा करेगी कम, आवाजाही पर पूरी तरह से लगेगी रोक, अब ऐसे बरती जाएगी सख्ती
X

राजस्थान लॉकडाउन

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस का कहर जारी है। प्रदेश में संक्रमितों की संख्या में कुछ कमी तो आई है मगर स्थिति अभी भी चिंताजनक बनी हुई है। इसी को देखते हुए अब प्रदेश सरकार और ज्यादा सख्ती करने के मूड में हैं। माना जा रहा है कि जिन जिलों में कोरोना की मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं उन जिलों में और सख्ती बरती जाएगी। इसे लेकर सरकार में मंथन हो चुका है। कहा सूत्रों की माने तो सरकार लॉकडाउन (Lockdown) में दी गई छूट का दायरा कम करने जा रही है। हालांकि जिन जिलों में संक्रमण के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं उनमें जयपुर (Jaipur), जोधपुर (Jodhpur), कोटा (Kota), उदयपुर (Udaipur), अलवर (Alwar), बीकानेर (Bikaner) और अजमेर (Ajmer) शामिल हैं। इधर जयपुर जिले में कोरोना की रफ्तार लगातार बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा (Dr Raghu Sharma) और प्रशासनिक अधिकारियों को जयपुर जिले के लिए विशेष इंतजाम करने के निर्देश दिए थे।

आवाजाही पर रोक की तैयारी

सूत्रों की मनाने तो 23 मई को जारी होने वाली नई गाइड लाइन में सरकार आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगाने की तैय़ारी में है। जैसा कि बीते लॉकडाउन में किया गय़ा था। विशेषज्ञों ने सरकार को सलाह दी है कि लोगों की आवाजाही जारी रहने से संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसके अलावा बाजारों, राशन की दुकानों का समय भी कम किया जा सकता है। इससे पहले सरकार ने प्रदेश में 19 अप्रैल से ही कोरोना के चलते सख्त कदम उठाए थे। इसमें 19 से 3 मई तक जन अनुशासन पखवाड़ा, 3 से 17 मई तक रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा और 10 मई से 24 मई तक के लिए सख्त लॉकडाउन लागू किया गया, लेकिन इसके बाद भी संक्रमण की रफ्तार कम नही हो रही है।

बनेंगे माइक्रो कंटेनमेंट जोन

सरकार से जुड़े सूत्रों की माने तो कोरोना से अधिक संक्रमित वाले जिलों में सरकार माइक्रो कंटेनमेंट जोन (Micro Containment Zone) बनाए बनाने की तैयारी कर रही है। बीते साल भी लॉकडाउन के दौरान सरकार ने माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए थे। 4 से ज्यादा मरीज मिलने पर उस इलाके को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर आवाजाही रोक दी जाएगी।

Next Story