Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान सरकार ने जेलों में बंद कैदियों को गणतंत्र दिवस पर दिया बड़ा तोहफा, जानिए बंदियो को अब क्या मिलेगा लाभ

राजस्थान सरकार ने जेल में बंद कैदियों को गणतंत्र दिवस का बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने राज्य की जेलों में बंद सज काट रहे कैदियों को दी जाने वाली मजदूरी में वृद्धि की गई है। गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

राजस्थान सरकार ने जेलों में बंद कैदियों को गणतंत्र दिवस पर दिया बड़ा तोहफा, जानिए बंदियो को अब क्या मिलेगा लाभ
X

कैदियों को गणतंत्र दिवस पर दिया बड़ा तोहफा

जयपुर। राजस्थान सरकार ने जेल में बंद कैदियों को गणतंत्र दिवस का बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने राज्य की जेलों में बंद सज काट रहे कैदियों को दी जाने वाली मजदूरी में वृद्धि की गई है। गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। पुलिस महानिदेशक, कारागार, राजस्थान राजीव दासोत के अनुसार राज्य की कारागृहों में कुशल एवं अकुशल बंदी श्रमिकों की नई मजदूरी दर क्रमशः 249 रुपये तथा 225 रुपये निर्धारित की गई हैं। इससे पहले यह राशि क्रमशः 209 रुपये तथा 189 रुपये थी।

जेलों में कौन कौन से करवाए जाते हैं काम

दासोत ने बताया कि राज्य की कारागृहों में दरी निवार कपड़ा बुनाई सिलाई कूलर बनाना कार्पेंट्री होजरी एवं लुहारी आदि कार्य कारागृह उद्योग में करवाए जाते हैं। बंदियों द्वारा फिनायल झाड़ू एवं पोछा निर्माण भी किया जाता है। हाल ही में मसाले पीसने का कार्य भी प्रारंभ हुआ है। कारागृह उद्योग में कार्य करने वाले कैदी कुशल श्रमिक कहलाते हैंए वहीं जेल सेवाओं का रखरखाव करने वाले अन्य समस्त कैदी अकुशल श्रमिक कहे जाते हैं। जेल नियमों के अंतर्गत भुगतान योग्य पारिश्रमिक की 75 प्रतिशत राशि बंदी श्रमिक को दी जाती है। शेष 25 प्रतिशत राशि की कटौती कर पीड़ित पक्ष को प्रदान की जाती है।

राज्य सरकार द्वारा समिति का किया गया था गठन

बंदी मजदूरी में संशोधन के लिए राज्य सरकार द्वारा एक समिति का गठन किया गया था। समिति की सिफारिश के आधार पर राज्य सरकार द्वारा बंदी मजदूरी की दरों में वृद्धि की गई हैं जिससे राज्य की कारागृहों में बंद लगभग छह हजार दंडित बंदियों को लाभ होगा।

Next Story