Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट के करीबियों ने बहुमत साबित करने की दी चुनौती, कल फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक

Rajasthan Crisis: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बार फिर विधायकों की बैठक बुलाने की अपील की है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में प्रियंका गांधी भी मौजूद रह सकती हैं।

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट के करीबियों ने बहुमत साबित करने की दी चुनौती, कल फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक
X
अशोक गहलोत

Rajasthan Crisis: राजस्थान की सत्ता में इस समय दिलचस्प उथल-पुथल देखने को मिल रही है। एक तरफ अशोक गहलोत ने दावा किया है कि उनकी बैठक में 102 विधायक मौजूद थे, जबकि सच्चाई कुछ और ही नजर आ रही है।

दूसरी तरफ, सचिन पायलट के करीबी अशोक गहलोत के दावे को गलत बताते हुए बहुमत साबित करने की चुनौती दे रहे हैं। जानकारी के मुताबिक कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बार फिर विधायकों की बैठक बुलाने की अपील की है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में प्रियंका गांधी भी मौजूद रह सकती हैं।

दावे की असलियत

अशोक गहलोत ने दावा किया है कि उनकी बैठक में 102 विधायक मौजूद थे। जबकि कहा जा रहा है कि सचिन पायलट के 18 विधायक इस बैठक में मौजूद नहीं थे। जानकारी के मुताबिक, राकेश पारीक, मुरारी लाल मीणा, जीआर खटाना, इंद्राज गुर्जर, गजेंद्र सिंह शक्तावत, हरीश मीणा, दीपेंद्र सिंह शेखावत, भंवर लाल शर्मा, इंदिरा मीणा, विजेंद्र ओला, हेमाराम चौधरी, पीआर मीणा, रमेश मीणा, विश्वेंद्र सिंह, रामनिवास गावड़िया, मुकेश भाकर और सुरेश मोदी इस बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

ये है समीकरण

सचिन पायलट ने दावा किया है कि उनके पास 30 से ज्यादा विधायक हैं। ऐसे में कांग्रेस के 107 विधायकों में 30 अगर पार्टी छोड़ कर चले जाते हैं तो कांग्रेस के पास 77 विधायक ही बचेंगे। वहीं सदन में विधायकों की कुल संख्या 170 हो जाएगी और बहुमत के लिए कांग्रेस को 86 विधायकों की जरूरत पड़ेगी।

दूसरी तरफ बीजेपी के पास 75 विधायक हैं। इनमें आरएलडी के विधायक भी शामिल हैं। अगर बीजेपी निर्दलीय उम्मीदवारों को तोड़ दे और राज्य के 13 विधायकों में से 8 को पार्टी में शामिल कर ले, तो बीजेपी सरकार बनाने में सफल हो जाएगी।

Next Story