Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन ने किया बुरा हाल, परिवार चलाने के लिए सब्जी बेचने को मजबूर हुआ शिक्षक

Coronavirus Lockdown: कोरोना वायरस ने लोगों से उनकी जिंदगी छीन ली है। परिवार को बचाने के लिए उन्हें अगर गलियों में भी भटकना पड़े तो वो उसके लिए भी तैयार नजर आ रहे हैं। एक ऐसा ही मामला राजस्थान में सामने आया है।

Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन ने किया बुरा हाल, परिवार चलाने के लिए सब्जी बेचने को मजबूर हुआ शिक्षक
X
Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन ने किया बुरा हाल, परिवार चलाने के लिए सब्जी बेचने को मजबूर हुआ शिक्षक

Coronavirus Lockdown: कोरोना वायरस ने देश के लाखो लोगों को बेरोजगार कर दिया है। लोग घर पर रहने के लिए मजबूर हैं। इस कारण जो लोग रोज कमाते और खाते थे, उनकी हालत काफी खराब हो गई है।

इसी क्रम में प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों का भी बुरा हाल हो रहा है। बच्चे घर से निकलकर ट्यूशन के लिए भी नहीं आते हैं। जिसका असर शिक्षकों के परिवार की जिंदगी पर पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार, एक ऐसा ही शिक्षक अपने परिवार को बचाने के लिए सब्जी बेचने को मजबूर हो गया है।

परिवार चलाना हो रहा मुश्किल

नंदलाल नाम के इस शिक्षक की तीन बेटियां हैं। वहीं उनके परिवार में कुल सदस्यों की संख्या पांच है। वो लोग चित्तौड़गढ़ के गांधीनगर हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहते हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल बंद होने के बाद से सैलरी मिलना बंद हो गई है। बच्चे भी ट्यूशन के लिए नहीं आते। इस वजह से परिवार चलाना काफी मुश्किल हो गया है।

किराए पर लिया है ठेला

नंदलाल ने किराए पर एक ठेला लिया है। उन्होंने कहा है कि वो सुबह साढ़े 7 बजे ही सब्जी बेचने के लिए निकल जाते हैं। शाम 7 बजे तक वो शहर के कई गलियों में घूमकर सब्जी बेचते हैं। उन्होंने कहा कि अभी सब्जी बेचकर ही वो अपना परिवार चला रहे हैं।

Next Story