Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Corona Update : 18,231 नए मरीजों की पुष्टि, 164 और मरीजों की मौत

पिछले 24 घंटों में राज्य में शुक्रवार को कोराना वायरस संक्रमण के 18,231 नए मामले सामने आए जबकि 164 और मरीजों की इस महामारी के कारण मौत हो गई।

Rajasthan Corona Update : राजस्थान में कोरोना का लगातार गिर रहा ग्राफ, करीब एक हजार मामले आए सामने
X

राजस्थान कोरोना की जानकारी

जयपुर। राजस्थान में कोरोना का अटैक जारी है। प्रदेश में स्थिति को बिगड़ता देख गहलोत सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। पिछले 24 घंटों में राज्य में शुक्रवार को कोराना वायरस संक्रमण के 18,231 नए मामले सामने आए जबकि 164 और मरीजों की इस महामारी के कारण मौत हो गई। प्रदेश में अभी 1,99,147 मरीज उपचाराधीन है। चिकित्सा विभाग के आंकड़ों में इसकी जानकारी दी गयी है।

आंकड़ों के अनुसार राज्य में शुक्रवार को इस घातक वायरस से जयपुर में 48, जोधपुर में 20, उदयपुर में 18, कोटा में 9, बीकानेर में 8, अजमेर,अलवर, और पाली में 7-7 मौते हुई हैं। इसके मुताबिक प्रदेश में अब तक कुल 5,346 मरीजों की जान जा चुकी है। चिकित्सा विभाग के आंकडों के अनुसार राज्य में बीते चौबीस घंटे में 18,231 और संक्रमित मिले है। इसमें राजधानी जयपुर में सबसे अधिक 4902, जोधपुर में 2602, उदयपुर में 1002, गंगानगर में 835,अलवर में 805, भीलवाडा में 778, बीकानेर में 621 नए रोगी शामिल है। इसके अनुसार बीते चौबीस घंटे में राज्य में इस दोरान 16,930 और मरीज ठीक हुए है।

राज्यपाल ने की अपील- बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने राज्य सरकार द्वारा घोषित 'महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े' का सभी से सख्ती से पालन करने की अपील करते हुए लोगों से बहुत जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलने के लिये कहा है। राज्यपाल ने कहा कि मास्क आवश्यक रूप से पहनें, दो गज की दूरी बनाए रखें और स्वच्छता नियमों को अपनाते हुए कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करें। इसी से कोरोना संक्रमण की चेन को हम तोड़ सकेंगे। मिश्र ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों और जनहानि पर चिंता जताते हुए कहा कि जीवन के लिए यह दौर अत्यधिक भयावह है। सावधानी और सतर्कता रखने के साथ ही इस समय में हमारी प्राथमिकता यही होनी चाहिए कि संक्रमण की चेन पूरी तरह से टूट जाए। उन्होंने एक बयान में कहा कि धैर्य, अनुशासन के समन्वित जन प्रयासों से ही यह सम्भव होगा।

Next Story