Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम गहलोत की अध्यक्षता में आज होगी कैबिनेट बैठक, कोरोना के अलावा इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना को लेकर गुरुवार को होने वाली बैठक, प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले व रोकथाम के प्रयास, कोरोना टीकाकरण एवं तीन सीटों पर हो रहे उपचुनाव पर भी चर्चा की जाएगी।

सीएम गहलोत की अध्यक्षता में आज होगी कैबिनेट की बैठक, कोरोना के अलावा इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा
X

राजस्थान कैबिनेट की बैठक

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की अध्यक्षता में आज मुख्यमंत्री निवास पर कैबिनेट की अहम बैठक (Cabinet Meeting) होने वाली है। सूत्रों ने बताया कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना को लेकर गुरुवार को होने वाली बैठक, प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले व रोकथाम के प्रयास, कोरोना टीकाकरण एवं तीन सीटों पर हो रहे उपचुनाव पर भी चर्चा की जाएगी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का मानना है कि कोविड-19 संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए देशभर में एक जैसे ही दिशा-निर्देश जारी होने चाहिए, जिससे राज्यों में भ्रम की स्थिति नहीं बने। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि केन्द्र सरकार देश में कोविड पर नियंत्रण के लिए एकीकृत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) निर्धारित करे और 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी लोगों के लिए टीकाकरण प्रारंभ करवाएं।

सूत्रों के अनुसार बैठक में EWS (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) की अधिकतम आयु सीमा में छूट के फैसले के साथ ही प्रशासन शहरों के संग अभियान की तारीख भी तय हो सकती है। इसके अलावा उच्च शिक्षा (विश्वविद्यालयों), सार्वजनिक निर्माण सहित अन्य विभागों की विभिन्न सेवाओं में कार्यरत कर्मचारियों के वेतन नियमों में संशोधन के प्रस्तावों पर भी निर्णय हो सकते हैं। बैठक में चिकित्सा विभाग, परिवहन विभाग के कुछ एजेंडे भी लिए जा सकते हैं।

गहलोत ने कहा कि कोविड पर नियंत्रण को लेकर राज्यों की अलग-अलग रणनीति, अन्तरराज्यीय मुद्दों (यात्रा के लिए कोविड टेस्ट की अनिवार्यता, लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू, शिक्षण संस्थाओं के संचालन) को लेकर राज्यों में आपसी समन्वय की कमी है। जिसके चलते आमजन में भ्रम एवं भय की स्थिति बनी हुई है। इस स्थिति को दूर करने के लिए देश में समग्र एवं एकीकृत प्रयासों की आवश्यकता है।

Next Story