Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Crisis: राजस्थान राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक हुई पूरी, लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री के पद से हटाने के बाद राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक हुई। इस बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। इसकी जानकारी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फेसबुक के जरिए दी है।

Rajasthan Crisis: विधानसभा सत्र बुलाने के लिए इस वजह से परेशान हैं अशोक गहलोत, राज्यपाल भी नहीं कर सकते इनकार
X
अशोक गहलोत

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री के पद से हटाने के बाद राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक हुई। इस बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। इसकी जानकारी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फेसबुक के जरिए दी है।

ये निर्णय लिए गए

अशोक गहलोत ने कहा कि निवास पर हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में राजस्थान की पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलवाने के लिए भारत सरकार को भेजे जाने वाले प्रस्ताव की मंजूरी की बात की गई। साथ ही प्रदेश में 10 करोड़ रूपए से अधिक के निवेश प्रस्तावों की जल्द से जल्द मंजूरी के लिए 'वन स्टॉप शॉप' प्रणाली की स्थापना आदि के भी महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी)

ईआरसीपी परियोजना के तहत चम्बल नदी बेसिन के अधिशेष जल को बनास, मोरेल, बाणगंगा, पार्वती, कालीसिल, गंभीर आदि नदी बेसिन में डाला जाना प्रस्तावित है। इसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की गई है, जो वर्ष 2017 से केन्द्रीय जल आयोग के पास ट्रायल के लिए है। परियोजना की लागत करीब 37 हजार करोड़ रूपए है। बता दें कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जुलाई एवं अक्टूबर 2018 में अपने राजस्थान दौरे के अवसर पर इस परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की घोषणा की थी।

'वन स्टॉप शॉप' प्रणाली

राज्य में 10 करोड़ रूपए से अधिक के निवेश प्रस्तावों को जल्द से जल्द आवश्यक अनुमतियां तथा सुविधाएं प्रदान करने के लिए 'वन स्टॉप शॉप' प्रणाली की स्थापना की जाएगी, जिससे उद्यमी सुगमतापूर्वक अपनी इकाइयां स्थापित कर सकेंगे। राज्य मंत्रिपरिषद ने इसके लिए राजस्थान उद्यम एकल खिड़की सामर्थ्यकारी और अनुज्ञापन अधिनियम-2011 (The Enabling and Licensing Act-2011) में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की। इससे उद्यमियों को अपना उद्यम स्थापित करने में आसानी होगी और प्रदेश में रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलबध हो सकेंगे।

गोदरेज एग्रोवेट लिमिटेड को विशेष सुविधा पैकेज

बैठक में गोदरेज एग्रोवेट लिमिटेड को बूंदी जिले के उलेरा गांव में पशु फीड विनिर्माण इकाई स्थापित करने के लिए विशेष सुविधा पैकेज प्रदान करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इस परियोजना में 2 चरणों में करीब 132 करोड़ रूपए का निवेश किया जाएगा। इसी प्रकार इमामी एग्रोटेक लिमिटेड को जयपुर जिले के चंद्रमूल गांव में सरसों की तेल मिल एवं रिफाइनरी के साथ सॉल्वेंट एक्सट्रेक्शन प्लांट स्थापित करने के लिए विशेष सुविधा पैकेज दिए जाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई। इस परियोजना में करीब 91 करोड़ रूपए का निवेश होगा और प्रतिदिन 140 मेट्रिक टन सरसों के तेल का उत्पादन हो सकेगा।

अन्य सेवा नियमों में भी संसोधन

मंत्रिपरिषद ने कनिष्ठ कृषि अध्यापक के पद पर नियुक्ति के लिए सेवा नियमों में संशोधन की भी मजूरी दी। साथ ही अस्थाई शिक्षकों के पेंशन प्रकरणों का निस्तारण करने, चिकित्सा शिक्षकों को पदोन्नति के लाभ देने के लिए राजस्थान मेडिकल सेवा (महाविद्यालय शाखा) नियमों में संशोधन करने की बात की। इसके अलावा राजस्थान तकनीकी शिक्षा अधीनस्थ (Rajasthan Technical Education Subordinate) के तहत डेमोन्स्ट्रेट तकनीकी, प्राध्यापक, विभागाध्यक्ष एवं प्राचार्य के पदों को नवीन वेतनमान का लाभ देने सहित अन्य सेवा नियमों में संशोधन के प्रस्तावों को भी मंजूरी दी है।

Next Story