Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बहादुरी को सलाम- कोटा में पुलिसकर्मी ने नदी में कूदकर युवक की बचाई जान

चौधरी तुरंत पुलिस वाहन से बाहर निकले और बिना कुछ सोच विचार किए नदी में छलांग लगा दी। बूंदी जिले के तिखरिया कलान गांव के निवासी चौधरी ने बताया कि मैं किसी तरह वहां पहुंच गया और डूब रहे व्यक्ति को पकड़ लिया।

बहादुरी को सलाम- कोटा में पुलिसकर्मी ने नदी में कूदकर व्यक्ति की जान बचाई
X

पुलिसकर्मी ने नदी में कूदकर व्यक्ति की जान बचाई

कोटा। वैसे तो लोगों के दिलों में पुलिस को लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं रहती हैं। अधिकतर लोग पुलिस के प्रति नकारात्मक सोच रखते हैं। लेकिन एक हालिया किस्से से आप भी पुलिसकर्मियों की बहादुरी को सलाम करेंगे और इसेे सुनकर आपकी भी सोच मेंं परिवर्तन आ जाएगा। राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) के लिए काम करने वाले 37 वर्षीय ड्राइवर (Driver) ने अपनी जान जोखिम में डालते हुए कोटा में पुल से करीब 10 फुट नीचे चंबल नदी में कूदकर एक व्यक्ति को डूबने से बचा लिया। कुन्हारी थाने में कार्यरत जीप ड्राइवर चेतराम चौधरी और कांस्टेबल राधेश्याम सांखला बुधवार की सुबह बूंदी रोड पर एक बाजार में कोविड-19 (Covid-19) डयूटी पर तैनात थे। तभी उन्हें करीब एक किलोमीटर दूर कुन्हारी पुल से चंबल नदी में एक व्यक्ति के कूदने की सूचना मिली।

कांस्टेबल सांखला ने बताया कि सूचना मिलने के तुरंत बाद वे वहां पहुंच गए। सांखला के अनुसार, चौधरी तुरंत पुलिस वाहन से बाहर निकले और बिना कुछ सोच विचार किए नदी में छलांग लगा दी। बूंदी जिले के तिखरिया कलान गांव के निवासी चौधरी ने बताया कि मैं किसी तरह वहां पहुंच गया और डूब रहे व्यक्ति को पकड़ लिया। उसकी जान बचाकर मुझे बहुत खुशी मिली। कुन्हारी थाने के प्रभारी गंगा सहाय शर्मा ने कहा कि आरंभिक जांच से पता चला कि शहर के डडवाडा इलाके के 32 वर्षीय मोहित ने नदी में कूदकर जान देने की कोशिश की और चौधरी ने उसे बचा लिया। थाना प्रभारी ने बताया कि नदी से बाहर निकाले जाने तक मोहित अचेत हो गया था और उसे एमबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रभारी के अनुसार, मोहित आर्थिक समस्या और बेरोजगारी के कारण हताश था।

Next Story