Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टोंक : पुलिस ने फिर आईपीएल पर सट्टा लगाते तीन को किया गिफ्तार, नकदी व कई मोबाइल फोन बरामद

राजस्थान में आईपीएल मैचों पर सटोरियों के खिलाफ पुलिस फुल एक्शन मोड में नजर आ रही है। बुधवार को ही यहां सीबीआई व पुलिस बल ने सटोरियों के एक बड़े गैंग का भंडाफोड़ किया था। वहीं इस कामयाबी के बाद पुलिस ने आईपीएल के मैचों में सट्टा लगाते तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है।

टोंक : पुलिस ने फिर आईपीएल पर सट्टा लगाते तीन को किया गिफ्तार, नकदी व कई मोबाइल फोन बरामद
X

आईपीएल सट्टेबाजी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

निवराजस्थान में आईपीएल मैचों पर सटोरियों के खिलाफ पुलिस फुल एक्शन मोड में नजर आ रही है। बुधवार को ही यहां सीबीआई व पुलिस बल ने सटोरियों के एक बड़े गैंग का भंडाफोड़ किया था। वहीं इस कामयाबी के बाद पुलिस ने आईपीएल के मैचों में सट्टा लगाते तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस उपाधीक्षक चंद्रसिंह रावत ने गुरुवार रात कार्रवाई कर साढ़े पांच लाख रुपए से अधिक नकदी जब्त कर तीन जनों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं थाना भवन के पास क्रिकेट पर सट्टा पकड़े जाने एवं टोंक पुलिस की ओर से शहर पुलिस की कार्य शैली पर सवालियां निशान लग गए है।

पुलिस उपाधीक्षक चंद्रसिंह रावत ने बताया कि निवाई शहर में आईपीएल क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाए जाने की गुप्त जानकारी मिली थी, जिस पर एक विशेष योजना बनाकर गिरोह को पकडऩे की योजना बनाई गई और रात साढ़े दस बज टोंक की टीम व पुलिस लाइन में तैनात पुलिस निरीक्षक रामनारायण कसाइयों के मोहल्ला स्थित कल्लू खां के मकान पर पहुंचे। जहां सर्च वांरट के जरिए छापामार कार्रवाई की गई। जहां तीन जने राजस्थान व हैदराबाद टीम के बीच चल रहे आईपीएल क्रिकेट मैच पर खिलाडिय़ों व ओवर पर रुपयों का दांव लगाते रंगे हाथों पकड़ लिया।

ये किया जब्त

कार्रवाई में पुलिस ने 5 लाख 63 हजार 650 रुपए जब्त किए। इसी प्रकार सट्टेबाजी में काम लिए जा रहे 21 मोबाइल, एक लेपटॉप तथा 15 लाख 20 हजार280 रुपए का सट्टे में हार जीत के लेखे जोखे की पर्चियां, एक स्कूटी भी जब्त की गई है। इस दौरान निवाई थानाधिकारी प्रहलाद सहाय को आईपीएल क्रिकेट सट्टेबाजी पर छापामार कार्रवाई की जानकारी दी, जिसके बाद थानाधिकारी मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे। जहां दीपक पुत्र नरेश जैन, नरेश पुत्र प्रेमचंद, घनश्याम पुत्र रामदेव खंगार निवासी निवाई को गिरफ्तार कर निवाई पुलिस को सुपुर्द कर दिया। साथ ही जब्त राशि और सामान भी पुलिस को सौंप दिया।

Next Story