Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाबा रामदेव की परेशानियां बढ़ीं- पतंजलि के सरसों के तेल में मिलावट, कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने ऑयल मिल को किया सील

लगता है बाबा रामदेव की मुश्किलें अभी कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं क्योंकि अब उनके सरसों के तेल में मिलावट की खबर सामने आई है। एलोपैथी पर बयान देकर फंसने के बाद अब रामदेव अपनी ही कंपनी के सरसों के तेल को लेकर मुश्किलों में घिर गए हैं।

बाबा रामदेव की परेशानियां बढ़ीं- पतंजलि के सरसों के तेल में मिलावट, कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने ऑयल मिल को किया सील
X

पतंजलि सरसों के तेल में मिलावट

जयपुर। एलोपैथी (Allopathy) पर टिप्पणी मामले में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) के 1 हजार करोड़ रुपए के मानहानि का केस के बाद बाबा रामदेव (Baba Ramdev) अब राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) के निशाने पर भी आग गए हैं। लगता है बाबा रामदेव की मुश्किलें अभी कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं क्योंकि अब उनके सरसों के तेल में मिलावट की खबर सामने आई है। एलोपैथी पर बयान देकर फंसने के बाद अब रामदेव अपनी ही कंपनी के सरसों के तेल को लेकर मुश्किलों में घिर गए हैं। राजस्थान के अलवर में गुरुवार देर रात प्रशासन ने पंतजलि कंपनी (Patanjali Company) के सरसों के तेल में मिलावट की आशंका के चलते खैरथल की सिंघानिया आयल मिल को सीज कर दिया है। इस कार्रवाई के दौरान खुद जिला कलेक्टर वहां मौजूद रहे साथ ही कार्रवाई की वीडियोग्राफी भी करवाई गई है।

पहले भी खाद्य तेल पर जताई जा चुकी है आपत्ति

बता दें कि खाद्य तेल संगठन पहले से ही पंतजलि के सरसों के तेल पर आपत्ति जता चुका था। दरअसल पंतजलि के सरसों तेल के एक विज्ञापन में यह दिखाया गया है कि पंतजलि छोड़ बाकी सभी कंपनियों के कच्ची घानी तेल में मिलावट है। इसी विज्ञापन के बाद ही खाद्य तेल संगठन ने अपनी आपत्ति जताई थी। हालांकि अब बाबा रामदेव की पतंजलि ब्रांड के नाम से सरसों के तेल की पैकिंग और मिलावट किए जाने की सूचना के बाद प्रशासन ने फैक्ट्री पर छापेमारी कार्ऱवाई करते हुए देर रात ही सीज कर दिया है।

फैक्ट्री में पतंजलि की भारी संख्या में पैकिंग सामग्री मिली

फैक्ट्री में पतंजलि की भारी मात्रा में पैकिंग सामग्री बरामद की गई है। हालांकि फैक्ट्री में बाबा रामदेव की पतंजलि का पैकिंग किए जाने की अनुमति होने की बात प्रबंधन की ओर से बताई गई है। इसके अलावा एक और ब्रांड श्री श्री ऑयल ब्रांड के भी रैपर वहां से मिले हैं। फैक्ट्री में मौजूद सरसों के तेल कच्ची घानी ओर स्पेलर से निकाले गए तेल के स्टॉक और मौजूद कच्चे सामान के खाद्य निरीक्षकों और आयुर्वेद निरिक्षकों की टीम ने सैम्पल लिए हैं। प्रशासन का कहना है कि सैंपल रिपोर्ट के आने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Next Story