Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन की दोनों डोज, जानें कोरोना की तीसरी लहर को लेकर क्या है सरकार की तैयारी?

राज्य में अब 20 प्रतिशत लक्षित जनसंख्या का पूरी तरह टीकाकरण किया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राजस्थान कोरोना वायरस प्रबंधन के बाद टीकाकरण में भी देश भर में अग्रणी है।

राजस्थान में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन की दोनों डोज, जानें कोरोना की तीसरी लहर को लेकर क्या है सरकार की तैयारी?
X

रघु शर्मा

जयपुर। राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा (Rajasthan health minister Raghu Sharma) ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस (Rajasthan Corona Virus) से बचाव के लिए टीकाकरण (Vaccination) के तहत एक करोड़ से अधिक लोगों को टीके की दोनों खुराक (Dose) लगाई जा चुकी है। राज्य में अब 20 प्रतिशत लक्षित जनसंख्या का पूरी तरह टीकाकरण किया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राजस्थान कोरोना वायरस प्रबंधन के बाद टीकाकरण में भी देश भर में अग्रणी है। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार दोपहर 1 करोड़ से अधिक दूसरी खुराक लगाकर राज्य की 20 प्रतिशत लक्षित जनसंख्या का टीकाकरण किया जा चुका है।

3177 टीका केंद्रों पर हो रहा टीकाकरण

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि राज्य में टीके की कुल 4 करोड़ 12 लाख 67359 लोगों को कोरोना वायरस की खुराक लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि इनमें 3 करोड़ 12 लाख 58116 लोगों को पहली खुराक व 1 करोड़ 9243 लोगों को दोनों खुराक लगाई जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में 3177 टीका केंद्रों पर टीकाकरण किया जा रहा है जिसमें 3109 राजकीय व 68 निजी टीका केंद्र शामिल हैं। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए चिकित्सा कर्मियों को बधाई दी।

ICU बेड की उपलब्धता पर दिया जा रहा ध्यान

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर (Corona Virus third wave) की आशंका को देखते हुए राज्य के सभी शिशु चिकित्सालयों के आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि चयनित 332 CHC में आईसीयू बिस्तर (ICU beds) के साथ चिकित्सकीय ऑक्सीजन (Oxygen) की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि अब तक विभिन्न चिकित्सालयों में 550 से अधिक अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था की जा चुकी है और बिस्तरों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है।

ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगाए जा रहे

डॉ शर्मा ने बताया कि राज्य में 1 हजार टन मेडिकल ऑक्सीजन (Medical oxygen) की उपलब्धता के लिए निरंतर ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र (Oxygen Production Plant) लगाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने 50 हजार से अधिक ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर्स (oxygen concentrators) की खरीद की है जिन्हें दूर-दराज के चिकित्सा संस्थानों तक पहुंचाया जा रहा है, ताकि ग्रामीणों को शहरों की ओर रुख नहीं करना पड़े।

Next Story