Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शादी की सालगिरह पर पत्नी को तोहफे में दी चांद पर तीन एकड़ जमीन, पति ने कहा- स्पेशल फील कराना चाहता था

आप ने वो गाना तो सुना ही होगा 'चलो दिलदार चलो चांद के पार चलो' अब यह महज गाना ही नहीं हकीकत बन गया है। हम आपको एक ऐसा वाकिया सुनाने जा रहे हैं जिसे सुनकर आपको शायद यकीन न हो पाए। पति ने अपनी पत्नी के लिए चांद का टुकड़ा बुक करा है।

शादी की सालगिरह पर पत्नी को तोहफे में दी चांद पर तीन एकड़ जमीन, पति ने कहा- स्पेशल फील कराना चाहता था
X

शादी की सालगिरह पर पत्नी को तोहफे में दी चांद पर तीन एकड़ जमीन

अजमेर। आप ने वो गाना तो सुना ही होगा 'चलो दिलदार चलो चांद के पार चलो' अब यह महज गाना ही नहीं हकीकत बन गया है। हम आपको एक ऐसा वाकिया सुनाने जा रहे हैं जिसे सुनकर आपको शायद यकीन न हो पाए। पति ने अपनी पत्नी के लिए चांद का टुकड़ा बुक करा है। जी हां, यह सच है। हर पत्नी की एक ख्वाहिश होती है कि उसका पति उसके लिए कुछ ऐसा करे जो उसे स्पेशल फील कराए और इसी कोशिश के बीच बेचारे ज्यादातर पति झूलते रहते हैं लेकिन अजमेर के रहने वाले एक शख्स ने अपनी पत्नी को शादी की सालगिरह में 'चांद का टुकड़ा' ही दे डाला। अपनी पत्नी से शिद्दत से मोहब्बत करने वाले इस आदमी की चर्चाएं आजकल हर किसी के लिए मिसाल बन गई हैं।

पत्नी को सपने की तरह लगा एनिवरसरी गिफ्ट

अजमेर निवासी धर्मेंद्र अनीजा ने अपनी पत्नी सपना अनीजा को शादी की आठवीं सालगिरह पर चांद पर तीन एकड़ जमीन खरीदकर गिफ्ट कर दे दिया है। सपना ने कहा कि मैं बेहद खुश हूं। मुझे कभी भी उम्मीद नहीं थी कि वह मुझे कुछ खास गिफ्ट करेंगे। उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा लगा कि मैं कोई सपना देख रही हूं। एनीवरसरी पर पार्टी का आयोजन प्रोफेशनल ऑर्गेनाइजर्स द्वारा किया गया था और डेकोरशन एकदम रियल महसूस करवा रही थी। ऐसा लग रहा था जैसे हम चंद्रमा पर हैं। वहीं धर्मेंद्र ने कहा कि मैं अपनी पत्नी के लिए कुछ खास करना चाहता था, सभी लोग ज्वेलरी, कार या फिर ऐसे ही कुछ सांसारिक तरह के तोहफे देते हैं, लेकिन मैं इनसे कुछ अलग करना चाहता था इसलिए मैंने उनके लिए चांद पर जमीन खरीदी।

क्या है चांद पर जगह बुक करने का प्रोसीसर

आपके जानकारी के लिए बता दें कि चांद पर जमीन खरीदने वाला शख्स न तो चांद पर जा सकता है और न ही वहां रह सकता है पर वह अपना दिल बहलाने के लिए यह खरीददारी करता है। यही वजह है कि भारत में चांद पर जमीन की खरीददारी करने वाले गिने-चुने लोग ही हैं।

Next Story