Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गहलोत सरकार का बड़ा फैसला- अब प्रत्येक वर्ग के लिए न्यूनतम मजदूरी में की इतनी बढ़ोतरी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रत्येक वर्ग के लिए न्यूनतम मजदूरी की दरों में 27 रुपए प्रतिदिन की बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, जो एक जुलाई, 2020, की पिछली तारीख से प्रभावी होंगी।

गहलोत सरकार का बड़ा फैसला- अब प्रत्येक वर्ग के लिए न्यूनतम मजदूरी में की इतनी बढ़ोतरी
X

न्यूनतम मजदूरी 

जयपुर। राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने राज्य में प्रत्येक श्रेणी के कामगारों (workers) के लिए न्यूनतम मजदूरी (minimum wage) बढ़ाने का निर्णय किया है। इसके तहत न्यूनतम मजदूरी में 27 रुपए प्रतिदिन की बढ़ोतरी की गई है। सरकारी बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने प्रत्येक वर्ग के लिए न्यूनतम मजदूरी की दरों में 27 रुपए प्रतिदिन की बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, जो एक जुलाई, 2020, की पिछली तारीख से प्रभावी होंगी। राजस्थान सरकार के इस फैैसले से मजदूरों को थोड़ी राहत मिलेगी।

श्रम विभाग (Labour Department) द्वारा इस संबंध में जारी अधिसूचना के अनुसार, अकुशल श्रमिक को 225 रुपए के स्थान पर 252 रुपए प्रतिदिन या 6,552 रुपए प्रतिमाह, अर्द्धकुशल श्रमिक को 237 रुपए के स्थान पर 264 रुपए प्रतिदिन या 6,864 रुपए प्रतिमाह, कुशल श्रमिक को 249 रुपए के स्थान पर 276 रुपए प्रतिदिन या 7,176 रुपए प्रतिमाह तथा उच्च कुशल श्रमिक को 299 रुपए के स्थान पर 326 रुपए प्रतिदिन या 8,476 रुपए प्रतिमाह मजदूरी प्राप्त होगी।

इस प्रकार प्रत्येक वर्ग को न्यूनतम मजदूरी में 702 रुपए प्रतिमाह का लाभ होगा। इसके अनुसार एक जुलाई, 2020 से प्रस्तावित न्यूनतम मजदूरी की दरों को एक जनवरी, 2019 से 30 जून, 2020 तक की अवधि में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (consumer price Index) में हुई वृद्धि के आधार पर तय किया गया है। न्यूनतम मजदूरी की दरों में पिछली वृद्धि 1 मई, 2019 से लागू की गई थी। बता दें कि राजस्थान सरकार द्वारा ये नए नियम एक जुलाई, 2020, की पिछली तारीख से प्रभावी होंगी।

Next Story