Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम गहलोत ने विपक्ष पर किया प्रहार, बोले- लोकतंत्र को कमजोर कर रही है भाजपा, जनता बर्दाश्त नहीं करेगी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा के लोग देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे है इस देश और प्रदेश की जनता इसको बर्दाश्त नहीं करेगी।

सीएम गहलोत ने विपक्ष पर किया प्रहार, बोले- लोकतंत्र को कमजोर कर रही है भाजपा, जनता बर्दाश्त नहीं करेगी
X
अशोक गहलोत

राजस्थान में राजनीतिक उठापटक का दौर जारी है। प्रदेश में आरोप-प्रत्यरोप का सिलसिला जारी है। यहां 14 अगस्त से विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है। उससे पहले ही सरकार वह विपक्ष में शह-मात का दौर चल रहा है। वहीं इसी कड़ी में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा के लोग देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे है इस देश और प्रदेश की जनता इसको बर्दाश्त नहीं करेगी।

जैसलमेर में संवाददाताओं से बातचीत में भाजपा विधायकों की बाडेबंदी पर पूछे गये सवाल का जवाब देते हुए गहलोत ने कहा कि भाजपा में वो क्या करते हैं, उससे मुझे कोई मतलब नहीं है। मुझे तो ये मतलब है कि भाजपा के लोग देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे हैं, इस देश की जनता और प्रदेश की जनता इसको बर्दाश्त नहीं करेगी।

उन्होंने कहा कि सरकार में तो हम लोग हैं, खरीद फरोख्त हो रही थी इसलिए हमें विधायकों को एकसाथ रोकना पड़ा। पर बीजेपी के विधायकों को किस बात की चिंता है, वो लोग बाड़ेबंदी कर रहे हैं तीन-चार जगह पर, वो भी चुन-चुनकर के, उनमें इतनी बड़ी फूट पड़ गई दिखती है।

उन्होंने आगे कहा कि हमारी खुद की प्रतिबद्धता है कि कभी नहीं करना चाहिए तो हमारी सरकार कैसे कर सकती है। ऐसा सोशल मीडिया पर चला गया कि पता नहीं हमारे खुद के विधायकों पर विश्वास ना हो.. यह षडयंत्र का हिस्सा है.. षडयंत्र के किरदार में जो जो लोग शामिल हैं वो सब मिलकर जनता को गुमराह करने का काम कर रहे है।

उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार को अस्थिर करने की इन घटनाओं को लेकर आज घर-घर में गुस्सा है, यह भाजपा के नेताओं के लिये और उन नेताओं के लिये है जो हमारी पार्टी के थे और चले गये, घर घर में गुस्सा है राजस्थान के अंदर, मैं समझता हूं कि वो खुद समझ रहे होंगे। अधिकांश लोग वापस आ जायेंगे हमारे साथ।

विधायकों के फोन टैपिंग के सवाल पर गहलोत ने कहा कि एक भी विधायक का, चाहे एमएलए हो या एमपी हो किसी का भी कोई टेलीफोन टैप करने का सवाल ही पैदा नहीं होता है सरकार कर भी नहीं सकती और ना ही करना चाहिए।

Next Story