Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan : अब कोरोना संक्रमितों का प्लाज्मा थेरेपी से हो रहा नि:शुक्ल उपचार

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं और सारी व्यवस्थाएं पर्याप्त हैं। राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों का प्लाज्मा थेरेपी उपचार निःशुल्क किया जा रहा है।

कोरोना ट्रीटमेंट में कितनी कारगर है प्लाज्मा थेरेपी
X
प्लाजमा थेरेपी (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। इन्हीं मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं और सारी व्यवस्थाएं पर्याप्त हैं। राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों का प्लाज्मा थेरेपी उपचार निःशुल्क किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य कोरोना प्रबंधन के सभी मानकों में देश के अन्य राज्यों से बेहतर स्थिति में है।

डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज की पुख्ता व्यवस्था की गई है। राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आरएमएससीएल) के माध्यम से प्रक्रियानुसार व पारदर्शी ढंग से पर्याप्त पीपीई किट, मास्क व सेनेटाइजर की खरीद की गई है। उप जिला चिकित्सालय स्तर तक वेंटिलेटर की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी का भी उपयोग किया जा रहा है जो बिलकुल निःशुल्क है। मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पूर्व के वर्षों में की गई नोटबंदी व जल्दबाजी में जीएसटी लागू किए जाने से देश की अर्थव्यवस्था का ढांचा चरमरा गया। उन्होंने कहा कि इस वित्त वर्ष के आरम्भ से ही साल के प्रथम दो माह में लगभग पूर्ण लॉकडाउन की स्थिति होने के कारण राज्य की राजस्व प्राप्तियों में भारी गिरावट आई, जबकि राज्य पर वेतन, पेन्शन, ब्याज भुगतान तथा सामाजिक सुरक्षा पेन्शन जैसे आवश्यक खर्चों पर भुगतान किए जाने की जिम्मेदारियां यथावत थीं। शर्मा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा की गई अप्रत्याशित कटौती ने राज्य की वित्तीय स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। लेकिन राज्य सरकार ने इस विश्वव्यापी महामारी पर नियंत्रण के लिए कुशल प्रबन्धन किया है, जिसकी सराहना देश-दुनिया में हो रही है। प्रधानमंत्री ने भी राज्य के कोरोना प्रबंधन की तारीफ की है। राज्य में कोरोना मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है। साथ ही यहां मृत्यु दर भी कम है। उन्होंने कहा कि राज्य कोरोना प्रबंधन के सभी मानकों में देश के अन्य राज्यों से बेहतर स्थिति में है। कोरोना काल के दौरान राज्य में विभिन्न विभागों में हो रही भर्तियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि 2,900 पदों के लिए परीक्षा आयोजित करवाई जा चुकी है।

Next Story