Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान: जबरन धर्म परिवर्तन का मामला आया सामने, पुलिस ने मामला किया दर्ज, जांच जारी

राजस्थान के अलवर जिले में कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन कराने को लेकर एक मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक एक दलित व्यक्ति ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि हरियाणा में उसका जबरन धर्मांतरण कराया गया।

राजस्थान: जबरन धर्म परिवर्तन का मामला आया सामने, पुलिस ने मामला किया दर्ज, जांच जारी
X

जबरन धर्म परिवर्तन मामला

जयपुर। राजस्थान के अलवर जिले में कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन कराने को लेकर एक मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक एक दलित व्यक्ति ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि हरियाणा में उसका जबरन धर्मांतरण कराया गया।

अलवर की पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने बताया कि मंगलवार को डाक से मिली एक शिकायत के आधार पर उन्होंने बरोदा मेव पुलिस थाने को संबंद्ध धाराओं के तहत एक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया। गौतम ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ बुधवार को एक मामला दर्ज किया गया और मामले की जांच जारी है।

बड़ौदामेव के गांव भयाड़ी निवासी मेमचंद (28) पुत्र काडू जाटव ने अलवर एससी/एसटी कोर्ट में इस्तगासा पेश किया कि उसकी रिश्तेदारी गांव इब्राहिम का बास तहसील फिरोजपुर झिरका जिला नूंह-हरियाणा में है। इस कारण इब्राहिम का बास के लोगों और उसका अक्सर आना-जाना रहा है।

इस कारण उसके इब्राहिम का बास के मेव समुदाय के लोगों से दोस्ताना सम्बन्ध बन गए। जिस पर इब्राहिम का बास निवासी सत्तार पुत्र श्योदान, तैयब पुत्र आमीन, शहजाद पुत्र नामालूम, रत्ती खां पुत्र जुहरु खां, महबूब पुत्र छुट्टा, हसन पुत्र इस्माइल, रसीद पुत्र इब्राहिम, हाकम पुत्र नसरु, शहिद पुत्र इब्राहिम, वहीद पुत्र आमीन, शब्बीर पुत्र इस्माइल, निज्जर पुत्र आसीन, शम्मी पुत्र अहमद, रजिया पत्नी मुबीन, सरुना पत्नी वहीद ने उसके परिवार को ग्राम इब्राहिम का बास बुलाया।

वहां उन्होंने कहा कि यदि वह हिंदू धर्म त्यागकर मुस्लिम धर्म को अपना ले तो वह उसे रहने को जमीन देंगे। धर्म परिवर्तन करने से मना करने पर इन लोगों ने उसकी पत्नी और बच्चों को बंधक बना लिया तथा धर्म परिवर्तन नहीं करने पर परिवार को जान से मारने की धमकी दी। जिससे वह भयभीत हो गया और आरोपियों के कहे अनुसार 29 जनवरी 2018 को अपना धर्म परिवर्तन कर अपना नाम मोहम्मद अनस रख लिया।

आरोपियों ने धर्म परिवर्तन के सम्बन्ध में उससे एक घोषणा पत्र भी स्टाम्प पर तहरीर कराया। जिसे वकील एडवोकेट खलील अहमद एवं नोटेरी द्वारा तस्दीक किया गया। आरोपी रसीद पुत्र इब्राहिम ने एक हलफनामा उसके हक में भूखण्ड के दान के सम्बन्ध में 28 नवम्बर 2018 तहरीर व तकमील किया। ये लोग उसे जबरन जमात में ले गए और उसका खतना करवाया।

Next Story